close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बाढ़ की मार के बाद सूखे की चपेट में बिहार, सरकार ने की आपात सहायता राशि की घोषणा

नीतीश कैबिनेट ने 18 जिलों को सूखा प्रभावित माना है. इन जिलों के 102 प्रखंड के 896 पंचायत में सूखे से किसान बेहाल हैं. 

बाढ़ की मार के बाद सूखे की चपेट में बिहार, सरकार ने की आपात सहायता राशि की घोषणा
नीतीश कैबिनेट ने 18 जिलों को सूखा प्रभावित माना है.

पटना: बिहार (Bihar) भीषण सूखे की चपेट में है. सूबे के तकरीबन आधे जिला सूखा प्रभावित है. सरकार ने इसकी घोषणा कर दी है. नीतीश कैबिनेट ने 18 जिलों को सूखा प्रभावित माना है. इन जिलों के 102 प्रखंड के 896 पंचायत में सूखे से किसान बेहाल हैं. सूखे प्रभावित किसानो और परिवारों के लिए आपात सहायत राशि की घोषणा की है.

सूखा प्रभावित पंचायत के सभी परिवारों को तीन-तीन हजार का ततक्षण राहत राशि के रूप में राज्य सरकार देगी. किसानों के खाते में राशि ट्रांसफर की जाएगी. इसके अलावे नीतीश सरकार फसल चक्  में बदलाव लाने और मौसम के हिसाब से किसानों को फसल लगाने के लिए बीज मुहैया कराएगी. शुक्रवार को कैबिनेट की बैठक में कुल 19 एजेंडों पर मुहर लगी है.

आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया है कि बिहार सरकार सूखे पर नजर बनाए हुए है. उन्होंने कहा कि बिहार के 18 जिला के 102 प्रखंड के 896 पंचायत में सूखा है. सूखा आकलन के लिए दो मापदंड अपनाए. पंचायत जहां पर तीस फीसदी से कम बारिश हुई है और वह पंचायत जहां पर 70 फीसदी से कम फसल की पैदावार हुई है उसे सूखा ग्रसित माना गया है. सूखे की मार वैशाली की सबसे ज्यादा 140 पंचायत और पटना के 135 पंचायत पड़ी है. सीएम नीतीश कुमार का गृह जिला भी सूखे की चपेट में है. नालंदा में 75 पंचायतों में सुखा है.

  • पटना के 17 प्रखंड के 135 पंचायत
  • नालंदा के 12 प्रखंड के 75 पंचायत
  • भोजपुर के 2 प्रखंड के 14 पंचायत
  • रोहतास के एक प्रखंड के एक पंचायत
  • गया के 10 प्रखंड के 86 पंचायत
  • नवादा के 9 प्रखंड के 118 पंचायत
  • औरंगाबाद के 2 प्रखंड के 18 पंचायत
  • जहानाबाद के 6 प्रखंड के 56 पंचायत
  • अरवल के 2 प्रखंड के 8 पंचायत
  • मुंगेर के 4 प्रखंड के 18 पंचायत
  • जमुई के 8 प्रखंड के 72 पंचायत
  • लखीसराय के 5 प्रखंड के 64 पंचायत
  • शेखपुरा के 4 प्रखंड के 33 पंचायत
  • भागलपुर के 3 प्रखंड के 22 पंचायत
  • बांका के 5 प्रखंड के 34 पंचायत  
  • वैशाली के 10 प्रखंड के 140 पंचायत
  • मुज्जफरपुर और दरभंगा जिले का एक ब्लॉक के एक-एक पंचायत सूखा घोषित. 

40 गांवों में मॉडल होगी खेती
बिहार सरकार जलवायू परिवर्तन पर भी नजर रखे हुए है. जलवायू परिवर्तन से जूझ रहे सरकार ने खेतीबारी करने का नया तरीका दुढ रही है. नीतीश सरकार ने जलवायु के अनुकूल कृषि कार्यक्रम तय की है. जिसे तहत सूबे के आठ जिलो में 40 गांव में किसानो से मॉडल खेती करवाएगी. 

 

कृषि वैज्ञानिक करेंगे मॉनिटरिंग
इसके लिए नीतीश कैबिनेट ने कुल 60.65 करोड़ रुपए स्वीकृत कर दिया है. चालू वित्तीय वर्ष में इस योजना पर कुल 13.93 करोड़ की राशि खर्च की जाएगी. कृषि सचिव एन श्रवण ने बताया कि मधुबनी,खगड़ियां,भागलपुर,बांका,मुंगेर,नालंदा,नवादा गया और नालंदा में इस मॉडल पर खेती होगी. खेती की मॉनिटरिंग कृषि वैज्ञानिक करेंगे. उन्होंने कहा कि आठ जिले के हर पंचायत में पांच गांव में मॉडल खेती होगी. आधुनिक कृषि यंत्र और तकनीक से यह खेती होगी.