close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: सरकार का दावा- हर साल इस समय बढ़ते हैं डेंगू के मरीज, सचेत रहें लोग

संजय कुमार ने डाटा देते हुए कहा कि सितम्बर और अक्टुबर में इस तरह के मरीज आते हीं है. हर साल पटना समेत अन्य इलाकों में डेंगू की मरीजो की संख्या बढ़ जाती है. उन्होंने कहा कि यह महामारी नहीं है. पिछले साल कुल 1117 मरीज डेंगू के शिकार हुए थे. 

बिहार: सरकार का दावा- हर साल इस समय बढ़ते हैं डेंगू के मरीज, सचेत रहें लोग
राजधानी में पटनावासियों पर डेंगू महामारी का खतरा मंडरा रहा है.

पटना: राजधानी पटना में बाढ के बाद डेंगू का डंक जारी है. राजधानी में पटनावासियों पर डेंगू महामारी का खतरा मंडरा रहा है. पटना में बरसात की पानी हर इलाके में जमा है. कहीं कम तो कहीं ज्यादा है लेकिन अब डेंगू ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है. पटना में अब तक 662 मरीज डेंगू के शिकार हुए हैं.

सूबे के 35 जिलों में डेंगू अब अपने पैर पसार रही है. मरीजों की संख्या एक हजार से उपर पहुंच चुकी है.सरकार ने आम लोगो के अपील की है कि वे घर के अंदर साफ जमा पानी नहीं रहने दे. मच्छरदानी के अंदर ही सोए. सरकार की ओर से महामारी से इंकार जरुर किया गया है.

स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा है कि पटना में डेंगू की मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है. हालांकि, महामारी के सवाल पर उनका कहना है कि यह सही शब्द नहीं है. संजय कुमार ने डेटा देते हुए कहा कि सितम्बर और अक्टुबर में इस तरह के मरीज आते हीं है. हर साल पटना समेत अन्य इलाकों में डेंगू की मरीजो की संख्या बढ़ जाती है. उन्होंने कहा कि यह महामारी नहीं है. पिछले साल कुल 1117 मरीज डेंगू के शिकार हुए थे. 

उन्होंने साफ कहा है कि आंकड़े बताते है कि यह सामान्य बात है. आकxड़ो में कोई ज्यादा वृद्धि नही हुई है. पटना में जल जमाव है लेकिन यह ज्यादा नहीं है. संजय कुमार ने कहा है कि जिस तरीके से पटना के कई मोहल्ले में पानी जमा रहा है इसके लिए राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार से गुहार लगाई थी. राष्ट्रीय मलेरिया रिसर्च सेंटर कोलकाता के वैज्ञानिकों की टीम पटना पहुंचकर कई मोहल्ले का सैंपल लिए थे. सैम्पल में महामारी वाली बात नहीं आई है.

स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा है कि सरकार अपने स्तर से काम तेजी से कर रही है.पटना में कुल 22 स्वास्थ्य केंद्र है. पूजा के समय मे 37 स्वास्थ्य कैम्प पूजा पंडालो में लगाए थे. अभी 60 से अधिक स्वास्थ्य जांच केंद्र चल हैं.स्वास्थ्य जांच केन्द्रों पर कुल 5 हजार लोगों ने स्वास्थ्य जांच कराया है. पटना शहर में 20 केंद्र काम कर रहा है.

पटना में बढ़ते डेंगू मरीज की संख्या को देखते हुए राज्य सरकार ने तीन दिवसीय मुफ्त जांच शिविर लगाने जा रही है.पटना के पीएमसीएच और एनएमसीएच में डेंगू परिक्षण जांच केन्द्र शुरु होगा. इस दौरान कोई भी मरीज केन्द्र तक पहुंचकर अपनी जांच करा सकेंगा. संजय कुमार ने कहा है कि यह जांच मुफ्त है. उन्होने लोगो से कहा है कि हर बुखार डेंगू नहीं होता इसलिए घबराए नहीं. डरने की नहीं सचेत रहने की जरुरत है.