close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना बारिश: जलजमाव के दोषियों का पता लगाने कमेटी का गठन, कई अधिकारियों के वेतन पर रोक

कमेटी इस बात के लिए भी कार्ययोजना बनाएगी कि आगे जलजमाव की स्थिति नहीं बने. जांच से पहले तीन दर्जन से ज्यादा अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है.

पटना बारिश: जलजमाव के दोषियों का पता लगाने कमेटी का गठन, कई अधिकारियों के वेतन पर रोक
जलजमाव प्रभावित लोगों ने किया था पटना में विरोध प्रदर्शन. (तस्वीर- ANI)

पटना: बीते दिनों मुसलाधार बारिश (Patna Rain) से बिहार की राजधानी पटना में अत्पन्न हुई जलजमाव की स्थिति की जांच के लिए चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है. सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की अध्यक्षता में हुए समीक्षा बैठक में इसका फैसला हुआ है. कमेटी एक महीना के अंदर अपना रिपोर्ट सौंपेगी.

विकास आयुक्त की अध्यक्षता में गठित इस जांच कमेटी में नगर विकास के प्रधान सचिव, आपदा के प्रधान सचिव और पथ निर्माण के प्रधान सचिव को शामिल किया गया. कमेटी जलजमाव के दोषियों को चिह्नित करेगी.

कमेटी इस बात के लिए भी कार्ययोजना बनाएगी कि आगे जलजमाव की स्थिति नहीं बने. जांच से पहले तीन दर्जन से ज्यादा अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है. बुडको के 12 इंजीनियर को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. नगर निगम के कंकड़बाग, बांकीपुर और पाटलिपुत्र इलाके के एक दर्जन अधिकारियों पर कार्रवाई हुई है.

उन्हें नोटिस जारी किया गया है साथ ही तत्काल प्रभाव से उनका वेतन भी बंद कर दिया गया है. ड्रेनेज से जुड़े 22 कर्मचारियों का वेतन बंद कर उन्हें भी नोटिस जारी किया गया है. ज्ञात हो कि 27, 28 और 29 सितंबर को 341 मिलीमीटर बारिश हुई थी.

इसके साथ ही समीक्षा बैठक में नालों से अतिक्रमण हटाने का फैसला किया गया है. सभी नाले दिसंबर तक साफ होंगे. पटना के अलावा अन्य शहरों के ड्रेनेज सिस्टम को सुधारने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आदेश दिए हैं. मुख्यमंत्री के सामने तीन अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन दिया. पटना के डीएम कुमार रवि ने जलजमाव से मुक्ति के लिए चलाए गए अभियान के बारे में बताया.