बिहार सरकार ने तय की निजी अस्पतालों में कोविड इलाज की दर, A,B,C श्रेणी में जिलों को बांटा

राज्य की नीतीश कुमार सरकार ने निजी अस्पतालों में कोविड के इलाज की दर तय की है. पटना समेत राज्य के सभी जिलों को ए, बी और सी श्रेणी में बांटा गया.

बिहार सरकार ने तय की निजी अस्पतालों में कोविड इलाज की दर, A,B,C श्रेणी में जिलों को बांटा
बिहार सरकार ने तय की निजी अस्पतालों में कोविड इलाज की दर, A,B,C श्रेणी में जिलों को बांटा.

पटना: बिहार में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच, राज्य की नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सरकार ने निजी अस्पतालों में कोविड के इलाज की दर तय की है. पटना समेत राज्य के सभी जिलों को ए, बी और सी श्रेणी में बांटा गया. 'ए' श्रेणी में केवल राजधानी पटना शहर को रखा गया.

वहीं, 'बी' श्रेणी में भागलपुर, मुजफ्फरपुर, गया, दरभंगा और पूर्णिया को रखा गया है. जबकि, 32 जिलों को 'सी' श्रेणी के शहर में रखा गया है. 'ए' श्रेणी में अधिकतम एक दिन के इलाज के अस्पताल 18000 हजार ले सकेंगे. बहुत सीरियस मरीजों से लिए जाएंगे अधिकतम 18 हजार रुपए.

बी श्रेणी के शहरों में अधिकतम 14400 रुपए एक दिन के इलाज के लिए जाएंगे. सी श्रेणी के शहरों में अधिकतम 10,800 रुपए एक दिन के इलाज के लिए जा सकेंगे. इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से सर्कुलर जारी किया गया है. सभी जिलों के डीएम को सरकार के फैसले का पालन कराने का निर्देश दिया गया है.

बता दें कि, सरकार ने बीतों दिनों निजी अस्पतालों में भी कोरोना के इलाज की अनुमित दे दी थी. वहीं, गुरुवार को बिहार में कोरोना के 2, 451 नए केस सामने आए हैं. इसके बाद, राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 30, 063 पहुंच गई है.

इसके साथ ही, बिहार स्वास्थ्य विभाग ने पहली बार पेशे के आधार पर कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा जारी किया है. जारी आकंड़ों के अनुसार, बिहार में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित 66 फीसदी मजदूर मिले हैं. जबकि विद्यार्थियों की संख्या 7 फीसदी, गृहणी 6 फीसदी, स्वास्थ्यकर्मी 6 फीसदी और 2 फीसदी पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं.