बिहार में एसिड अटैक पीड़िताओं को मिलेगी पेंशन, रेप पीड़िता को भी मिलेगा मुआवजा

शारीरिक शोषण और मानव व्यापार के पीड़ितों के पुर्नवास के लिए भी मुआवजा दिया जाएगा. 

बिहार में एसिड अटैक पीड़िताओं को मिलेगी पेंशन, रेप पीड़िता को भी मिलेगा मुआवजा
बिहार सरकार ने एसिड अटैक पीड़िताओं के पुर्नवास के लिए अच्छी पहल की है.

पटना: बिहार सरकार एसिड अटैक और रेप पीड़ित महिलाओं और लड़कियों के पुर्नवास के लिए योजना लेकर आई है. सरकार ने फैसला लिया है कि वह बिहार में एसिड अटैक और रेप पीड़ित को तीन से सात लाख रुपए तक का मुआवजा देगी. शारीरिक शोषण और मानव व्यापार के पीड़ितों के पुर्नवास के लिए भी मुआवजा दिया जाएगा. इतना ही नहीं, अगर कोई महिला या लड़की तेजाब हमले में आंख की रोशनी खो चुकी हैं और चेहरे का 80 प्रतिशत हिस्सा जख्मी हो तो सरकार की तरफ से उन्हें जीवन भर 10 हजार रुपए की पेंशन दी जाएगी.

मालूम हो कि भारत में एसिड अटैक की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. पिछले साल संसद में केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री हंसराम, गंगाराम अहीर ने कहा था एसिड अटैक की घटनाएं करीब 10 फीसदी की रफ्तार से बढ़ रही हैं. साल 2015 में एसिड अटैक की 222 घटनाएं थानों के रिकॉर्ड में दर्ज हुईं. जबकि 2014 में 203 मामले दर्ज किए गए थे.

वर्ष 2015 में यूपी में 55, पश्‍चिम बंगाल में 39, दिल्‍ली में 21, बिहार में 15 और मध्‍य प्रदेश में 14 मामले दर्ज किए गए हैं. हरियाणा जैसे छोटे राज्‍य में भी दस मामले सामने आए हैं. आंध्र प्रदेश में 14 केस हुए हैं.

2015 में देश भर में ऐसे मामलों में पुलिस ने 305 लोगों को गिरफ्तार किया था. हालांकि सिर्फ 18 मामलों में दोषसिद्ध हो पाया. इन सभी घटनाओं ने बेटियों की जिंदगी तबाह कर दिया है. हाल के वर्षों में बिहार में भी एसिड अटैक की घटनाएं बढ़ गई हैं.