मोतिहारी: CM नीतीश बोले- हमारी सरकार ने हर तबके का किया विकास, राज्य का बढ़ा बजट

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमने किसानों को कृषि यंत्र पर 75 से 80 अनुदान देने का फैसला लिया है. इसमें चार तरह के यंत्र पर अनुदान का फैसला लिया.

मोतिहारी: CM नीतीश बोले- हमारी सरकार ने हर तबके का किया विकास, राज्य का बढ़ा बजट
बिहार के मुख्यमंत्री हैं नीतीश कुमार. (तस्वीर साभार-@IPRD_Bihar)

मोतिहारी: बिहार के मोतिहारी में अरेराज के जागरूकता सम्मेलन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि चंपारण की धरती को हम प्रणाम करते हैं. हमारी सरकार ने हर तबके के विकास के लिए काम किया. बिहार का बजट काफी बढ़ गया है. हमने हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ने का फैसला लिया बिहार के किसी भी इलाके से चलकर पटना जाने में 5 घंटे से ज्यादा नहीं लगेगा. उन्होंने कहा कि 827 करोड़ से 333 सड़कें मोतिहारी में बनेंगी.

सीएम ने कहा कि हम यात्रा करते रहते हैं. कोई फैसला लेते हैं, तो हर जिले में जाकर समीक्षा करते हैं. बुधवार को दो जगह से काम देखकर यहां आए हैं. चंपारण से ही हम अपनी यात्रा शुरू करते हैं. पुरानी योजनाओं की समीक्षा तो करते ही रहेंगे. नीतीश कुमार ने कहा कि सात निश्चय की योजनाओं पर काम कर रहे हैं. साथ ही लोहिया स्वच्छता अभियान के तहत शौचालय बन रहे हैं.

'जलवायु में परिवर्तन हुआ है'
जेडीयू मुखिया ने कहा कि 2018 में 280 प्रखंड सूखाग्रस्त रहा. इस साल भी काफी खराब स्थिति रही है. हमने शुरू से देखा जलवायु में परिवर्तन हुआ है. नीतीश कुमार ने कहा कि 30 साल में बिहार का औसत वर्षापात 1025 मिलीमीटर है. साथ ही बिहार में भूजल के स्तर में कमी आ रही है.

'3 वर्ष में पूरा होगा अभियान'
नीतीश कुमार ने कहा कि सब लोगों को जल की जरूरत है, चाहे मनुष्य हो, पक्षी हो या जानवर. उन्होंने कहा कि तीन साल में जल-जीवन-हरियाली अभियान पूरा होगा. नीतीश कुमार ने कहा कि सब जल स्त्रोतों का जीर्णोद्धार करवा रहे हैं. साथ ही चापाकल और कुआं भी बनवाया जा रहा है.

'पानी बचाने से भूजल स्तर बना रहेगा'
सीएम ने कहा कि पानी बचाएंगे, तो धरती का भूजल स्तर बना रहेगा. उन्होंने कहा कि बिहार में 89 फीसदी लोग ग्रामीण इलाके में रहते हैं. 76 फीसदी लोग कृषि पर निर्भर हैं, अब जलवायु के मुताबिक खेती का अभियान शुरू किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने किसानों को कृषि यंत्र पर 75 से 80 अनुदान देने का फैसला लिया है. इसमें चार तरह के यंत्र पर अनुदान का फैसला लिया.

इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल-जीवन-हरियाली पर मानव श्रृंखला बनावाने का ऐलान किया. साथ ही लोगों ने इसमें शामिल होने की बात कही. उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी काननू लागू हमले किया है. शराब पीने से हर साल दुनिया मे 30 लाख लोग मरते हैं.