close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन का लालू यादव पर तंज, 'देश बदल रहा है, जेल में है भ्रष्टाचार का आरोपी'

बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने लालू यादव का बिना नाम लिये तंज कसा है. साथ ही भ्रष्टाचारियों को चेतावनी दी है.

बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन का लालू यादव पर तंज, 'देश बदल रहा है, जेल में है भ्रष्टाचार का आरोपी'
बिहार राज्यपाल लालजी टंडन ने भ्रष्टाचारियों को सचेत किया है.

पटनाः बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने इशारों ही इशारों में भ्रष्टाचार को लेकर जेल में बन्द लालू प्रसाद यादव पर तंज कसा है. राज्यपाल ने पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव का नाम लिये बिना कहा है कि देश मे बड़ा बदलाव आया है. जो इंसान सिंहासन पर बैठा था वह भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में कैद है. भ्रष्टाचार पर लोगों को सचेत रहने की जरूरत है.

दरअसल, राज्यपाल सह कुलाधिपति लालजी टंडन ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय आयोजित एक कार्यशाला में सभी विश्वविद्यालय के कुलसचिव और कॉलेज के प्रिंसिपल को सम्बोधित कर रहे थे. गुरुवार को राजभवन में नैक जागरूकता एवं ट्रेनिंग को लेकर वर्कशॉप का आयोजन किया गया था.

राजभवन के मंडपम में उन्होंने विश्वविद्यालय के कुलपति और प्राचार्य को भ्रष्टाचार से दूर रहने की नसीहत और विनती की. लालजी टण्डन ने यूनिवर्सिटी के कुलपति और कॉलेज प्राचार्य से कहा कि राजभवन में आपके बारे में भ्रष्टाचार की शिकायत मिल रही है. भ्रष्टाचार के मामले पर राजभवन काफी सख्त है. जो कुछ लोग भी इसमें शामिल है, वे सुधर जाएं, नहीं तो फिर राजभवन सचिवालय भ्रष्टाचार में लिप्त कर्मियों पर डंडा चलाएगी.

राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा कि शिक्षा में सुधार तेजी से हो रहा है. आज शिक्षा अराजकता से निकलकर बाहर आ गया है. हमलोगों को जागृत और सचेत रहने की जरूरत है. देश बदलने के साथ-साथ लोगों मे भी बदलाव हो रहा है. उन्होंने विश्विद्यालय कुलपतियों को स्पष्ट कहा कि आप साधन की कमी के बारे में सोचना छोड़ दें. आप तमाम कुलपति और प्राचार्य शिक्षण संस्थानों में सूविधाएं बढ़ाने के बारे में सोचें.

उन्होंने यूनिवर्सिटी प्रशासन पर गुस्सा भी उतारा. लालजी टंडन ने कहा कि जो आसान काम स्टूडेंटस कर सकते वो काम आप नहीं कर पा रहे हैं. सरकार आपको पूरी सुविधा दे रही है, यदि काम गुणवतापूर्ण नहीं हुई तो कॉलेज और विश्विद्यालय को अपनी जवाबदेही देनी होगी.