बिहार: हिंदी दिवस पर राजयपाल और CM नीतीश पर प्रदेशवासियों को दी बधाई, कहा...

राज्यपाल ने अपने संदेश में लिखा, 'हिंदी दिवस -2020 के सुअवसर पर मैं समस्त बिहारवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं.'

बिहार: हिंदी दिवस पर राजयपाल और CM नीतीश पर प्रदेशवासियों को दी बधाई, कहा...
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हिंदी दिवस की शुभकामनाएं दी हैं. (फाइल फोटो)

पटना: हिंदी दिवस (Hindi Diwas 2020) के अवसर पर सियासी दिग्गजों ने देशावासियों को बधाई दी है. बिहार के राज्यपाल फागू चौहान (Phagu Chauhan) ने भी प्रदेशवासियों को हिंदी दिवस की बधाई दी है. राज्यपाल ने अपने संदेश में लिखा, 'हिंदी दिवस -2020 के सुअवसर पर मैं समस्त बिहारवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं.'

उन्होंने आगे कहा, 'हिंदी भाषा हमारे भाव और विचारों के अभिव्यक्ति का सशक्त माध्यम होने के साथ-साथ, हमारी राष्ट्रीय अस्मिता से भी जुड़ी हुई है. राजकीय कार्यों में हिंदी के अधिकाधिक प्रयोग से प्रशासन को आम जनता के साथ जुड़ने में सुगमता होती है. हिंदी भाषा हमारे देश की एकता, अखंडता, राष्ट्रीयता और समरसता को अक्षुण्ण बनाए रखने में भी सहायक है. हिंदी दिवस के अवसर पर हमें यह संकल्प लेना चाहिए कि हम हिंदी की समग्र प्रगति के लिए सतत प्रयत्नशील रहेंगे.'

वहीं, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने भी ट्वीट कर प्रदेशवासियों को हिंदी दिवस की शुभकामनाएं दी है. नीतीश कुमार ने ट्वीट कर लिखा, 'हिंदी दिवस के अवसर पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं.'

इधर, बिहार के उपमुख्यमंत्री और बीजेपी (BJP) के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने भी ट्वीट कर हिंदी दिवस की शुभकामनाएं दी है. सुशील कुमार मोदी ने लिखा, 'समस्त देशवासियों को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.'

बता दें कि बहुत सी बोलियों और भाषाओं वाले हमारे देश में आजादी के बाद भाषा को लेकर एक बड़ा सवाल आ खड़ा हुआ. आखिरकार 14 सितंबर 1949 को हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया. हालांकि शुरू में हिंदी और अंग्रेजी दोनो को नए राष्ट्र की भाषा चुना गया और संविधान सभा ने देवनागरी लिपि वाली हिंदी के साथ ही अंग्रेजी को भी आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया, लेकिन 1949 में आज ही के दिन संविधान सभा ने हिंदी को ही भारत की राजभाषा घोषित किया. हिंदी को देश की राजभाषा घोषित किए जाने के दिन ही हर साल हिंदी दिवस मनाने का भी फैसला किया गया, हालांकि पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया.