close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

JDU का पलटवार, 'ट्विटर बउआ तेजस्वी जी, वैशाली में दलितों के घर जले, पर आप नहीं गए'

बिहार के वैशाली स्थित जन्दाहा में आरएलएसपी नेता मनीष सहनी की हत्या पर अब सियासत जोर पकड़ने लगा है.

JDU का पलटवार, 'ट्विटर बउआ तेजस्वी जी, वैशाली में दलितों के घर जले, पर आप नहीं गए'
तेजस्वी यादव पर नीरज कुमार ने पलटवार किया है. (फाइल फोटो)

पटनाः बिहार के वैशाली स्थित जन्दाहा में आरएलएसपी नेता मनीष सहनी की हत्या पर अब सियासत जोर पकड़ने लगा है. विपक्ष एक बार फिर नए मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है. मनीष सहनी की हत्या में स्थानीय विधायक पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. जिसके बाद विपक्ष इस्तीफा और गिरफ्तारी की मांग कर रही है.

वहीं, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव शनिवार को जन्दाहा पहु्ंचकर मनीष सहनी के परिवारवालों से मुलाकात कर मामले की पूरी जानकारी ली. तेजस्वी यादव ने मनीष सहनी के घरवालों को भरोसा दिलाया कि उन्हें वह न्याय दिलाएंगे.

इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार पर हलाम बोलते हुए कहा बिहार की विधि व्यवस्था ऑउट ऑफ कंट्रोल हो गई है. तेजस्वी यादव ने जन्दाहा हत्याकांड में जल्द अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की है.  तेजस्वी ने कहा कि बिहार में अपराधी बेलगाम हो गए हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार अपराधियों को संरक्षण दे रही है.

तेजस्वी यादव ने जन्दाहा और मुजफ्फरपुर और पटना आसरा गृह सभी मुद्दों पर चर्चा करते हुए मामले से जुड़े सभी विधायकों और मंत्रियों की इस्तीफे की मांग की है. उन्होंने कहा मंत्रियों का इस्तीफा नीतीश कुमार और सुशील मोदी लेंगे या फिर हमलोगों को इस्तीफा दिलाना पड़ेगा. तेजस्वी यादव ने ट्वीट पोस्ट कर सवाल किया है.

वहीं, तेजस्वी यादव के जन्दाहा पहुंचने और नीतीश सरकार पर हमला बोलने पर जेडीयू ने भी पलटवार किया है. जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने तेजस्वी पर जोरदार हमला बोला है. उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार अपराधियों को बचाने का काम नहीं करती है.

नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव के ट्वीट पोस्ट का जवाब देते हुए कहा, 'ट्विटर बउआ, तेजस्वी जी, आप भूल गए होंगे, परन्तु जिस वैशाली जिले में आज आप गए है, उसी जिले में कुछ दिन पहले दलितों के घर जले थे पर आप नही गए. आज अपराधियों को प्रमाणपत्र देने जन्दाहा चले गए. जन्दाहा घटना में आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी होगी, इस सरकार में उन्हें बचाने वाला कोई नही.'

बहरहाल, बिहार में बढ़ते अपराधिक ग्राफ नीतीश सरकार के लिए पहले ही सर दर्द बनी हुई है. वहीं, विपक्ष को लगातार सरकार को घेरने के नए-नए मुद्दे मिल रहे हैं. वहीं, मामले में मंत्रियों और विधायकों के नाम आने से परेशानियां बढ़ती जा रही है.