उधारी का पैसा चुकाने के लिए विशाल ने खुद रची थी किडनैप की कहानी, मामला खुलने पर पुलिस भी हुई हैरान

 फर्जी अपहरण कांड  (Fake kidnapping case) का खुलासा होने के बाद पुलिस ने विशाल डागा और उसके दो साथियो को सलाखों के पीछे भेज दिया है. 

उधारी का पैसा चुकाने के लिए विशाल ने खुद रची थी किडनैप की कहानी, मामला खुलने पर पुलिस भी हुई हैरान
पैसा चुकाने के लिए विशाल ने खुद रची थी किडनैप की कहानी (प्रतीकात्मक फोटो)

Purnia: किशनगंज पुलिस (Kishanganj Police) ने ठाकुरबाड़ी रोड निवासी कपड़े व्यापारी मिलाप डागा के पुत्र विशाल डागा को सकुशल बरामद कर लिया है. जिसके बाद इस मामले को लेकर कई हैरान करने वाले खुलासे हुए हैं. इस मामले में पुलिस को पता चला है कि विशाल को व्यापार में काफी ज्यादा घाटा हुआ था. जिसके बाद पैसे न चुका पाने की वजह से उनसे खुद ही अपने दोस्तों के साथ मिलकर झूठी कहानी रची थी. इस फर्जी अपहरण कांड  (Fake kidnapping case) का खुलासा होने के बाद पुलिस ने विशाल डागा और उसके दो साथियो को सलाखों के पीछे भेज दिया है. 

गौरतलब है कि किशनगंज के धर्मगंज रेलगेट के समीप निवासी कपड़ा व्यापारी मिलाप चंद डागा ने 18 मार्च 2021 को थाने में अपने बेटे के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसमें उन्होंने बताया था कि 60 लाख की फिरौती मांगी गई है. जिसके बाद किशनगंज पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए सर्विलांस की मदद से पता लगाया था कि फिरौती जिस मोबाइल नम्बर से मांगी गई वो नंबर मुंबई का है. इसके बाद पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष ने दो पुलिस अधिकारी थानाध्यक्ष पहाड़कट्टा आरिज एहकाम एवं सुमित कुमार को  फिरौती मांगने वाले अभियुक्त की गिरफ्तारी और उसके चंगुल से अपहृत विशाल को मुक्त करने के लिए मुंबई भेजा था. 

ये भी पढ़ें: Pakur: एक दो नहीं...पूरे 11 दरिंदो ने साथ मिलकर लूटी महिला की इज्जत, साहसी औरत पहुंची थाने

 

किशनगंज पुलिस की टीम मुम्बई में पहुंचकर फिरौती मांगने वाले व्यक्ति रूपेश कुमार सिंह को गिरफ्तार किया था. उसकी गिरफ्तारी के बाद ही पुलिस को फर्जी अपहरण कांड के बारे में पता चला था. इस मामले में मास्टरमाइंड के रूप में रोहित उर्फ बाबा का नाम भी आ रहा है. जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. 

इस मामले पर से पर्दा उठाते हुए रोहित ने बताया है कि, 'विशाल ने अपने पिता के जन्म दिन पर अपहरण का प्लान बनाया था. इस दौरान उसने हमे बताया था कि उस पर 70-80 लाख रूपये का कर्ज हो गया है. इसके बाद भी उसके पिता उसकी कोई भी मदद नहीं कर रहे है. ऐसे में अगर वो उसे किडनैप कर के फिरौती के रूप में 60 लाख रुपये मांगते है तो उसका कर्ज उतर जाएगा.  इसके अलावा विशाल ने  फिरौती के 60 लाख रुपये से 15 लाख रुपये अपने दोस्तों को देने का वादा किया था. 

इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर के कार्रवाई करना शुरू कर दिया है. फिलहाल पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

(इनपुट-अमित)