close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार के मंत्री बृजकिशोर बिंद का अजीबोगरीब बयान, 'गर्मी और लू दैवीय आपदा, हम क्या कर सकते हैं'

बिहार में लू की चपेट में आने से 74 लोगों की मौत हो गई है. वहीं, औरंगाबाद जिले में सबसे अधिक 48 लोगों की मौत हो गई है.

बिहार के मंत्री बृजकिशोर बिंद का अजीबोगरीब बयान, 'गर्मी और लू दैवीय आपदा, हम क्या कर सकते हैं'
बिहार के मंत्री बृजकिशोर बिंद ने कहा लू दैविक आपदा कोई कुछ नहीं कर सकता.

औरंगाबादः बिहार में लू की चपेट में आने से 74 लोगों की मौत हो गई है. वहीं, औरंगाबाद जिले में सबसे अधिक 48 लोगों की मौत हो गई है. लेकिन, बिहार सरकार के मंत्री का कहना है कि स्वास्थ्य व्यवस्था बिलकुल ठीक है. गर्मी और लू दैवीय आपदा है इसमें कोई क्या कर सकता है.

औरंगबाद में भीषण गर्मी में लू की वजह से सबसे अधिक 48 लोगों की मौत हो गई है. सदर अस्पताल में लू के मरीज पहुंच रहे हैं, लेकिन उनकी मौत हो जा रही है. मरीजों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. लेकिन बिहार सरकार के मंत्री का बयान उन लोगों को और भी दुखी कर रहा है जिन परिवारों के लोग मर रहे हैं.

अस्पताल में व्यवस्था की कमी की जांच और डॉक्टरो-कर्मचारियों को आवश्यक निर्देश देने के बयाए बिहार सरकार में औरंगाबाद के प्रभारी मंत्री बृजकिशोर बिंद का कहना है कि 'गर्मी और लू दैवीय आपदा, हम क्या कर सकते हैं'. वहीं, अस्पताल में व्यवस्था को लेकर कहा कि वह सभी चीजों से संतुष्ट हैं. उन्होंने कहा कि चिकित्सकों  और अधिकारीयों ने अपने स्तर से अच्छा काम किया है.

औरंगाबाद के प्रभारी मंत्री बृजकिशोर बिंद रविवार को सदर अस्पताल का दौरा करने आए थे. उन्होंने मरीजों से मुलाकत की और उनका हालचाल जाना. अस्पताल के सुविधाओं का भी जायजा लिया.

जायजा लेने के बाद मंत्री जी ने सभी कामों को लेकर अधिकारियों और डॉक्टरों की प्रसंशा की और कहा कि लू कूदरत का कहर है, प्रकृति के आगे किसी की भी कुछ नहीं चलती है.