मुजफ्फरपुर रेप कांडः बचने और बचाने वाले जाएंगे अंदर, कभी नहीं किया है समझौता- नीतीश कुमार

नीतीश कुमार ने कहा गड़बड़ी कर जो बचना चाहेगा वह अंदर जाएगा साथ ही बचाने वाले भी नहीं बचेगा. बल्कि वह भी अंदर जाएगा. 

मुजफ्फरपुर रेप कांडः बचने और बचाने वाले जाएंगे अंदर, कभी नहीं किया है समझौता- नीतीश कुमार
नीतीश कुमार ने सतत जीविकोपार्जन योजना की शुरुआत की.

पटनाः मुजफ्फरपुर रेप कांड मामले में विपक्ष लगातार नीतीश सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और समाज कल्याण मंत्री के इस्तीफे की मांग लगातार हो रही है. वहीं, सरकार पर कार्रवाई देरी से करने को लेकर आरोप लगाया जा रहा है. हालांकि सीएम नीतीश कुमार ने काफी समय से इस मामले पर बयान नहीं दिया था. लेकिन उन्होंने खुद ही सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी थी.

पटना में रविवार को सतत जीविकोपार्जन योजना की शुरुआत की गई. इस योजना के तहत 1 लाख गरीब परिवारों को जीविकोपार्जन गतिविधियों से जोड़ना लक्ष्य है. कार्यक्रम के संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि कोई भी पोजेटिव फीड को देख नहीं रहे हैं. कुछ निगेटिव काम हुए तो उसे ही लेकर ही चल रहे हैं.

उन्होंने कहा कि जो गड़बड़ी कर जो बचना चाहेगा वह अंदर जाएगा साथ ही बचाने वाले भी नहीं बचेगा. बल्कि वह भी अंदर जाएगा. नीतीश कुमार ने कहा कि वह किसी को भी बख्शने वाले नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि मैंने कभी गलत के साथ समझौता नहीं किया है. लेकिन फिर भी गाली देना है तो दीजिए. बता दें कि नीतीश कुमार ने रविवार को बाल संरक्षण ईकाइ के 13 अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया. जबकि समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक दिवेश शर्मा को भी सस्पेंड कर दिया है.

गौरतलब है कि सीबीआई जांच के शुरू होने के बाद नीतीश कुमार ने हाल ही में कहा था कि वह मुजफ्फरपुर की घटना से शर्मसार हुए हैं. उन्होंने कहा कि कार्रवाई कर किसी को भई बख्शा नहीं जाएगा. इस बयान के बाद विपक्ष ने नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा था. वहीं, नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने सरकार के खिलाफ जंतर-मंतर पर धरना देने का ऐलान किया था.

शनिवार को नई दिल्ली के जंतर-मंतर पर आयोजित हुए धरने में महागठबंधन के नेता एकजुट दिखे. और सभी ने एक-एक कर नीतीश कुमार और एनडीए पर जमकर हमला बोला.