close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नाव से गिरने के बाद छलका BJP सांसद रामकृपाल का दर्द, बोले- DM का फोन नहीं लगता, SDO बात नहीं सुनते

Ramkripal Yadav : रामकृपाल यादव ने जी मीडिया से कहा कि हम किसको अपनी परेशानी बताएं. एसडीओ हमारी बात नहीं सुन रहे तो डीएम का फोन ही नहीं लगता.

नाव से गिरने के बाद छलका BJP सांसद रामकृपाल का दर्द, बोले- DM का फोन नहीं लगता, SDO बात नहीं सुनते

पटना : पटना (Patna) में जलजमाव ने सारे सिस्टम की पोल खोलकर रख दी है. सरकार पटना के राजेन्द्र नगर और कंकडबाग से जलजमाव का हल निकालने में व्‍यस्‍त है, लेकिन पटना के ही दानापुर इलाके की तरफ किसी का ध्‍यान नहीं है. इसको लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव (Ramkripal Yadav) का दर्द छलक आया. अपने क्षेत्र की जनता के साथ सौतेले व्यवहार से दुखी रामकृपाल यादव ने जी मीडिया से कहा कि हम किसको अपनी परेशानी बताएं. एसडीओ हमारी बात नहीं सुन रहे तो डीएम का फोन ही नहीं लगता.

दानापुर में बीते पांच दिनों से भारी जलजमाव है, लेकिन न तो यहां सरकारी मदद पहुंची है और न ही एनडीआरएफ या एसडीआरआएफ की टीम. इलाके के सांसद लोगों की फरियाद और नाराजगी सुनते-सुनते परेशान हैं. यही वजह रही की पूर्व केंद्रीय मंत्री अपने दिल की बात कहने से नहीं चूके.

रामकृपाल यादव ने स्वीकार किया कि पूरा पटना अव्यवस्थित बस गया है. लोगों से नगर निगम टैक्स तो वसूल कर रहा है, लेकिन उन्हें सुविधाएं नहीं मिल रहीं. न सीवरेज व्यवस्था है और न ही पीने के पानी की. 

नतीजा आज सबके सामने है. खासतौर पर दानापुर (Danapur) के इलाके की बात करें तो खगौल, मिथिला कॉलोनी, लेखानगर जैसे ईलाकों की हालत बिलकुल ही नारकीय है. गंगा का पानी भी खतरे के निशान के पास होने के कारण इलाके में 5 फुट तक पानी अभी जमा है.

रामकृपाल यादव ने कहा है कि इसमें कोई दो राय नहीं कि पिछली सरकारों का किया खामियाजा आज लोग भुगत रहे हैं. अगर पिछली सरकार ने व्यवस्थित शहर बसाया होता तो ऐसी नौबत नहीं आती. रामकृपाल यादव ने कहा कि बुधवार को मैं जिस इलाके में गया था, वहां नाव की व्यवस्था नहीं थी. मजबूरन मुझे जैसे-तैसे डोंगी पर चढ़ना पडा, जिसके कारण डोंगी डूब गई. हादसा होते-होते बचा. लोग अब नाव की मांग कर रहे हैं. 

लोगों ने मुझे नाव की मांग को लेकर घेरा. मेरी बात न तो एसडीओ सुन रहे और न ही कोई पदाधिकारी. डीएम का तो फोन ही नहीं लग रहा. ऐसे में मैं क्या करूं?

बीजेपी सांसद ने कहा कि राजेन्द्र नगर और कंकडबाग से पानी निकलना चाहिए, लेकिन मेरे इलाके में भी लोग फंसे हुए हैं. वहां भी मदद पहुंचनी चाहिए. जब तक गंगा का पानी नीचे नहीं जाएगा, एक बड़ी आबादी को राहत नहीं मिलने वाली. ऊपर से पुनपुल का बढता जलस्तर भी परेशानी का सबब बना हुआ है.