बिहटा में पुलिस पर बालू खनन माफियाओं ने की फायरिंग, 11 गिरफ्तार

राजधानी पटना के निकट बिहटा में सोन नदी के पास अवैध बालू खनन माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने गयी पुलिसकर्मियों पर फायरिंग की गई है. 

बिहटा में पुलिस पर बालू खनन माफियाओं ने की फायरिंग, 11 गिरफ्तार
बालू खनन माफियाओं ने पुलिस पर फायरिंग की है. (प्रतीकात्मक फोटो)

पटनाः राजधानी पटना के निकट बिहटा में सोन नदी के पास अवैध बालू खनन माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने गयी पुलिसकर्मियों पर फायरिंग की गई है. हालांकि माफियाओं द्वारा गोलीबारी में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं मिली है. लेकिन पुलिस ने इस मामले में 11 लोगों को गिरफ्तार किया है.

पटना पुलिस काफी समय से बालू खनन माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए कार्रवाई कर रही है. हाल ही में कई बालू माफियाओं के वाहनों को जब्त किया गया है. इसके लिए स्पेशलन अभियान चलाकर कार्रवाई की गई थी. साथ ही कई पुलिसवालों के मिले होने के बाद उनपर भी कार्रवाई की गई थी.

वहीं, पुलिस बुधवार को बिहटा में सोन नदी के पास बालू खनन माफियाओं पर कार्रवाई करने के लिए पहुंची. लेकिन खनन माफियाओं ने पुलिस को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी. दरअसल पुलिस को गुप्त सूचना मिली की बालू खनन माफिया अवैध तरीके से नाव के जरिए बालू काटकर ले जा रहे हैं. सूचना मिलने पर पुलिस यहां छापेमारी करने पहूंची.

बिहटा थाना प्रभारी रंजीत कुमार अपनी पूरी टीम के साथ नाव से सोन में छापेमारी करने गए. लेकिन माफियाओं और नाविकों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 11 नाविकों को गिरफ्तार कर लिया साथ ही एक नाव भी जब्त किया है. पुलिस के मुताबिक माफिया फायरिंग करते हुए फरार हो गए.

पुलिस ने बताया की उनके पास नाव छोटी थी और पूरी तैयारी भी नहीं हुई थी. लेकिन उन्होंने कहा है कि अगली बार हम पूरी तैयारी के साथ छापेमारी की जाएगी. और लगातार छापेमारी जारी रहेगी.

गौरतलब है कि कोइलवर पूल के पास बालू माफिया हरवे हथियार के साथ सैकड़ों नाव से सोन नदी से अवैध रूप से बालू का खनन कर रहे है और उसे दूसरे जिलों और राज्यों में बेच रहे है. सोन नदी होने के कारण पुलिस चाह कर भी बड़ी कार्रवाई नहीं कर पाती है और जब कार्रवाई करने जाती है तो हथियारों से लैश नाविक और बालू माफिया पुलिस पर फायरिंग कर फरार हो जाते है.