close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार : नए साल पर पर्यटन विभाग का विशेष ऑफर, 750 रुपये में करें इन जगहों का भ्रमण

ऑर ब्ल़ॉक स्थित बिहार राज्य पर्यटन निगम के दफ्तर से वाल्मीकिनगर, राजगीर, नालंदा, सोनपुर, वैशाली और पावापुरी जैसे पर्यटक स्थलों के लिए विशेष रूप से एसी (AC) वाहनों की व्यवस्था की गई है

बिहार : नए साल पर पर्यटन विभाग का विशेष ऑफर, 750 रुपये में करें इन जगहों का भ्रमण
नए साल में बिहार के कई पर्यटक स्थल टूरिस्टों से गुलजार होते हैं. (फाइल फोटो)

पटना : साल में कुछ मौके ऐसे होते हैं, जब टूरिस्ट स्पॉट पर्यटकों की आमद से गुलजार होता है. बिहार के पर्यटक स्थल भी इस मामले में काफी धनी हैं. पावापुरी, ककोलत, राजगीर, नालंदा और वाल्मीकिनगर जैसे पर्यटक स्थल गर्मी और सर्दी की छुट्टी में गुलजार हो जाते हैं. बिहार राज्य पर्यटन निगम ने सैलानियों के लिए सर्दी की छुट्टी में खास तैयारी की है. 

पर्यटन निगम ने दो तरह के ऑफर पर्यटकों के लिए उपलब्ध कराए हैं. राजधानी के ऑर ब्ल़ॉक स्थित बिहार राज्य पर्यटन निगम के दफ्तर से वाल्मीकिनगर, राजगीर, नालंदा, सोनपुर, वैशाली और पावापुरी जैसे पर्यटक स्थलों के लिए विशेष रूप से एसी (AC) वाहनों की व्यवस्था की गई है. पर्यटन निगम ने इसके लिए बुकिंग भी शुरू कर दी है.

बुकिंग सेंटर पर पर्यटक भी टिकट कटाने के लिए पहुंच रहे हैं. सैलानी भी विशेष पैकेज से खुश हैं, लेकिन उन्होंने बिहार सरकार से ऑनलाइन टिकट की सुविधा भी उपलब्ध कराने की मांग की है. बिहार राज्य पर्यटन निगम के लिए अक्टूबर से मार्च तक का महीना कमाई करने वाला महीना होता है. कई ऐसे मौके होते हैं खासकर एक जनवरी जब  काफी संख्या में सैलानी घरों से निकलकर पर्यटक स्थलों तक पहुंचते हैं. आइए हम आपको बताते हैं कि किस तरह का ऑफर पर्यटकों के लिए बिहार राज्य पर्यटन निगम ने सैलानियों के लिए दिया है.

राजगीर-नालंदा-पावापुरी
यह एक दिन का पैकेज है. सुबह 8 बजे बस पर्यटन निगम के दफ्तर से खुलेगी और शाम सात बजे तक पहुंचेगी. इस पैकेज में वॉल्वो बस की सुविधा है. एक पैसेंजर का किराया 750 रुपया रखा गया है. इसमें ब्रेकफास्ट, लंच, मान्यूमेंट और रोपवे टिकट शामिल है.

पटना-वाल्मीकिनगर
एक रात और दो दिन का यह पैकेज है. इसके तहत बस सुबह आठ बजे पटना से खुलेगी और अगले दिन रात में पटना पहुंचेगी. बस पहले पटना से बेतिया पहुंचेगी. शाम में गंडक बैराज का दर्शन और वॉच टावर से जंगल का नजारा दिखाया जाएगा. यात्रियों को रात में आराम के बाद दूसरे दिन कौलेश्वर झूला होते हुए जटाशंकर मंदिर तक ट्रैकिंग करते हुए लाया जाएगा. जटाशंकर मंदिर से जंगल सफारी, हाथी दर्शन और आसपास के मंदिरों के दर्शन के बाद देर रात यात्री पटना लौट जाएंगे. बिहार राज्य पर्यटन निगम
के मैनेजर इन एडमिनिस्ट्रेशन गजेन्द्र कुमार के मुताबिक, आगे से कुछ और नई जगहों को पैकेज में शामिल किया जाएगा.