बिहार में आयुष्मान भारत के तहत 22 व्यक्तियों को कोविड उपचार मिला: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया
X

बिहार में आयुष्मान भारत के तहत 22 व्यक्तियों को कोविड उपचार मिला: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Union Health Minister Mansukh Mandaviya) ने संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान खुलासा किया कि आयुष्मान भारत योजना (ayushman bharat scheme)  के तहत बिहार में केवल 22 लोगों का कोविड-19 के लिए इलाज किया गया.

बिहार में आयुष्मान भारत के तहत 22 व्यक्तियों को कोविड उपचार मिला: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया

Patna: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Union Health Minister Mansukh Mandaviya) ने संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान खुलासा किया कि आयुष्मान भारत योजना (ayushman bharat scheme)  के तहत बिहार में केवल 22 लोगों का कोविड-19 के लिए इलाज किया गया. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, महामारी की पहली और दूसरी लहर के दौरान आयुष्मान भारत योजना कार्ड का उपयोग करके 8.29 लाख लोगों ने इलाज कराया, लेकिन योजना के तहत बिहार के केवल 22 लोगों ने इलाज का लाभ उठाया.

आयुष्मान भारत योजना देश के गरीब लोगों को 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मुहैया कराने की नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना है. बिहार में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई, लेकिन राज्य सरकार ने मौत के आंकड़ों का खुलासा नहीं किया है. नीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य का स्वास्थ्य ढांचा सबसे नीचे है.

तीसरी लहर को लेकर है तैयार  

कोरोना की तीसरी लहर को बिहार सरकार अभी पूरी तरह से तैयार है. राज्य की राजधानी पटना में अभी से स्कूलों गाइडलाइन जारी कर दी गई है. गृह विभाग ने कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रान के मद्देनजर गाइडलाइन जारी की है. नई गाइडलाइन के अनुसार स्कूलों में बच्चों एवं कर्मियों को मास्क का उपयोग करना होगा.

इसके अलावा जिला शिक्षा अधिकारी ने अपने आदेश में कहा कि  टीकाकरण के बाद ही किसी कर्मी को स्कूल में प्रवेश दिया जाएगा, जो स्कूल कर्मी अब तक टीकाकरण नहीं कराये हैं, उन्हें स्कूलों में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

(इनपुट:आईएएनएस)

 

Trending news