बिहार: विधानसभा गेट पर मंत्री की गाड़ी रोकने के दावे का गृह विभाग ने किया खंडन
X

बिहार: विधानसभा गेट पर मंत्री की गाड़ी रोकने के दावे का गृह विभाग ने किया खंडन

अधिकारियों ने दावा किया कि नागरिक और पुलिस अधिकारियों को सुगम मार्ग देने के लिए मंत्री (Minister) के वाहन को रोकने का सवाल ही नहीं उठता. अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कहा कि जब मंत्री बिहार विधानसभा (Bihar Legislative Assembly) के गेट पर पहुंचे तो कुछ भ्रम हुआ था.

बिहार: विधानसभा गेट पर मंत्री की गाड़ी रोकने के दावे का गृह विभाग ने किया खंडन

Patna: बिहार सरकार (Bihar Government) के गृह विभाग (Home Department) ने गुरुवार को श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार मिश्रा (Jivesh Mishra) के उन दावों का खंडन किया, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि उनका गुरुवार को विधानसभा के गेट पर अपमान किया गया था. अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह, चैतन्य प्रसाद (Chaitanya Prasad) और डीजीपी एस.के. सिंघल (SK Singhal) को स्पीकर विजय सिन्हा (Vijay Sinha) ने बुलाया, जिन्होंने उनसे घटना की गहन जांच करने को कहा है. 

ट्रैफिक जाम में फंस गया था मंत्री का वाहन 
अधिकारियों ने दावा किया कि नागरिक और पुलिस अधिकारियों को सुगम मार्ग देने के लिए मंत्री के वाहन को रोकने का सवाल ही नहीं उठता. अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कहा कि जब मंत्री (Minister) बिहार विधानसभा के गेट पर पहुंचे तो कुछ भ्रम हुआ था. यह मुख्यमंत्री (Chief Minister) के काफिले के कारण उत्पन्न यातायात की भीड़ थी, इसलिए, उनका वाहन ट्रैफिक जाम में फंस गया था.

DGP ने कहा- घटना की जांच की जाएगी 
वहीं, डीजीपी ने कहा कि हमारे आश्वासन के बावजूद, अगर मंत्री अभी भी संतुष्ट नहीं हैं, तो हम घटना की जांच करेंगे. हम मामले का पता लगाने के लिए घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) को स्कैन करेंगे.

ये भी पढ़ें- गाड़ी रोके जाने से 'आग बबूला' हुए ये मंत्री, उठाई DM-SSP को सस्पेंड करने की मांग की

मंत्री का आरोप- DM और SSP के काफिले को निर्बाध रास्ता देने के लिए उनकी एसयूवी रोकी गई 
बता दें कि जीवेश मिश्रा ने गुरुवार को कहा था कि मुख्यमंत्री, स्पीकर और मंत्रियों के लिए आरक्षित एक ही गेट का इस्तेमाल करने वाले पटना के DM चंद्रशेखर सिंह और SSP उपेंद्र शर्मा के काफिले को निर्बाध रास्ता देने के लिए उनकी एसयूवी को विधानसभा के गेट पर रोका गया.

मंत्री की मांग- दोनों अधिकारियों को निलंबित करे सरकार 
मंत्री ने दावा किया था कि विधानसभा के गेट पर तैनात यातायात कर्मियों के कृत्य ने एक जन प्रतिनिधि को अपमानित किया जो एक कैबिनेट मंत्री (Cabinet Minister) भी है. उनका कहना था कि यह डीएम और एसएसपी के निर्देश पर हुआ है. इसलिए, राज्य सरकार को इन दोनों अधिकारियों को निलंबित करना चाहिए.

डीएम और एसएसपी का काफिला मेरे सामने से गुजरा- मंत्री 
जीवेश मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री का काफिला पहले ही गेट से गुजर चुका था और डीएम और एसएसपी का काफिला मेरे सामने से गुजरा, सीसीटीवी में यह सब दिख सकता है.

(इनपुट-आईएएनएस)

Trending news