झारखंड चुनाव: BJP के अपने ही दे रहे हैं चुनौती, वोटों के बिखराव को कैसे रोक पाएगी पार्टी?

Jharkhand Assembly Election 2019: लोक जनशक्ति पार्टी झारखंड में 50 विधानसभा सीटों पर ताल ठोक रही है, तो वहीं जेडीयू भी 81 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है.

झारखंड चुनाव: BJP के अपने ही दे रहे हैं चुनौती, वोटों के बिखराव को कैसे रोक पाएगी पार्टी?
बीजेपी के लिए वोटों का बिखराव रोकना बड़ी चुनौती होगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सौरभ शुक्ला ,रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) के समर में बीजेपी (BJP) के राह में अपने ही रोड़े बन गए हैं. कभी बीजेपी की सहयोगी रही आजसू (AJSU), जेडीयू (JDU) और लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) इस बार अकेले ही चुनावी मैदान में ताल ठोक चुकी है. 

लोक जनशक्ति पार्टी झारखंड में 50 विधानसभा सीटों पर ताल ठोक रही है, तो वहीं जेडीयू भी 81 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. जेडीयू प्रवक्ता श्रवण कुमार ने कहा कि हम बिहार के अलावा पूरे देश में एनडीए (NDA) से अलग हैं. इसलिए हम लोग हम अपने नेता नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के मॉडल को झारखंड में लाना चाहते हैं.

वहीं, भारतीय जनता पार्टी ने इस बार विधानसभा के चुनाव में 65 पार का लक्ष्य रखा है. बीजेपी प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव की मानें तो यह चुनावी लड़ाई विचारधारा से लड़ी जाती है और चुनाव में जनता भारतीय जनता पार्टी को जनादेश देगी. जबकि सरकार की सहयोगी रही आजसू के प्रवक्ता देवशरण भगत का कहना है कि केला कभी अकेला नहीं रहता है. केला हमेशा कांधी में रहता है. झारखंड के जनमानस और उनके आवाज के संघर्ष में सकारात्मक रुख अपनाते रहे हैं. आजसू किसी को बिगाड़ने और बेचने का काम नहीं करती बल्कि बनाने का काम करती है.

इधर, बीजेपी के बिखरते कुनबे पर अब विपक्ष चुटकी लेने लगी है. कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि सत्ता और स्वार्थ का गठबंधन था. महाराष्ट्र में इनकी हालत देखिए. हरियाणा में जिस तरह से सरकार बनाया है, यह जगजाहिर है. अब बीजेपी के गठबंधन दल के साथी भी इनके साथ रहना नहीं चाहते हैं. 

वहीं, जेवीएम (JVM) के केंद्रीय सचिव सरोज सिंह ने कहा कि सभी चीजें सामने हैं. अपने गठबंधन के साथियों को भी बीजेपी संभाल नहीं पाई. जबकि झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) की नेत्री महुआ माजी ने कहा कि बीजेपी के वर्तमान राजनीतिक हालात को देख सभी हंस रहे हैं. जो बीजेपी हमारे दल पर आरोप लगाते थे आज उनकी हालत खराब है. राज्य की जनता सब देख रही है.