सुशांत केस में उद्धव सरकार की भूमिका संदिग्ध, कांग्रेस अपना रही दोहरा मापदंड: JDU

राजीव रंजन ने कहा कि, कांग्रेस को अपनी भूमिका को स्पष्ट करना चाहिए. कांग्रेस का दोहरा मापदंड पूरे मामले में सामने आया है. कांग्रेस के इसी रवैये की वजह से जनता उसको नकार रही है.

सुशांत केस में उद्धव सरकार की भूमिका संदिग्ध, कांग्रेस अपना रही दोहरा मापदंड: JDU
जेडीयू का कहना है कि सुशांत मामले में कांग्रेस का दोहरा मापदंड पूरे मामले में सामने आया है.

पटना: बॉलीवुड (Bollywood) अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले में बयानबाजी कम होने का नाम नहीं ले रही है. इस बीच, सुशांत मामले में जांच को लेकर जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि, महाराष्ट्र सरकार और पुलिस की भूमिका संदिग्ध है. कांग्रेस (Congress) महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) में शामिल है और बिहार सरकार पर सवाल उठा रही है.

राजीव रंजन ने कहा कि, कांग्रेस को अपनी भूमिका को स्पष्ट करना चाहिए. कांग्रेस का दोहरा मापदंड पूरे मामले में सामने आया है. कांग्रेस के इसी रवैये की वजह से जनता उसको नकार रही है. वहीं, कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बहाना न बनाएं और न ही राजनीति करें.

प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि, केंद्र में उनकी सरकार है और वह सीबीआई (CBI) जांच की अनुसंशा करें. सीबीआई जांच केंद्र सरकार कराएगी न कि कांग्रेस. सुशांत के परिवार अगर सीबीआई जांच चाहते हैं तो, सीबीआई जांच हो.

इधर,प्रेमचंद्र मिश्रा के बयान पर बीजेपी ने हमला बोला है. बीजेपी प्रवक्ता अखिलेश सिंह ने कहा कि, सुशांत सिंह मामले पर राजनीति कांग्रेस कर रही है. कांग्रेस सीबीआई जांच चाहती है तो महाराष्ट्र में उनकी सरकार है वो, अनुसंशा करें. महाराष्ट्र पुलिस बिहार पुलिस को सहयोग नहीं कर रही है. ये खुद सुशांत के परिवार वालों ने कहा है.

दरअसल, महाराष्ट्र पुलिस द्वारा सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच सवालों के घेरे में आ गई है. सुशांत के पिता ने पटना में सुशांत की गर्लफ्रेंड और उनके परिवार के अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है. साथ ही, सुशांत मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग कर रही है.

वहीं, तमाम राजनीतिक दल और नेता बिहार में भी सीबीआई जांच की वकालत कर रहे हैं. लेकिन महाराष्ट्र सरकार सीबीआई जांच से परहेज कर रही है. महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे और गृहमंत्री अनिल देशमुख का कहना है कि, सुशांत मामले में सीबीआई जांच की जरूरत नहीं है. महाराष्ट्र पुलिस की जांच पर सबको भरोसा रखना चाहिए. जबकि जांच के लिए गई महाराष्ट्र गई बिहार पुलिस के साथ शुक्रवार को महाराष्ट्र पुलिस ने गलत व्यवहार किया. इसको लेकर बीजेपी-जेडीयू सवाल उठा रहे हैं.

बीजेपी-जेडीयू का कहना है कि, महाराष्ट्र पुलिस का रवैया ठीक नहीं है और वह जांच ठीक से नहीं कर रही है. साथ ही, बीजेपी-जेडीयू कांग्रेस पर भी सवाल उठा रही हैं, जो महाराष्ट्र सरकार में शामिल हैं.