close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बीजेपी ने विधानपरिषद में उठाया RSS पत्र का मुद्दा, बाकी नेताओं ने कहा कुछ ऐसा

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा है कि आरएसएस का मुद्दा सदन में सजंय मयूख ने उठाया था लेकिन सरकार की तरफ से कोई जबाब नहीं मिला. बीजेपी इस मामले को उठा रही है. आरएसएस को नीतीश कुमार ने मजबूत किया है तो फिर सवाल क्यों उठा रही है .

बिहार: बीजेपी ने विधानपरिषद में उठाया RSS पत्र का मुद्दा, बाकी नेताओं ने कहा कुछ ऐसा
विधानपरिषद में बीजेपी विधान पार्षद संजय मयूख ने इस मसले को उठाया.

पटना: राष्ट्रीय सेवक संघ पर विशेष शाखा द्वारा जांच करवाने का मुद्दा अब बढ़ता जा रहा है. बिहार सरकार के आदेश के बाद बीजेपी अब आक्रामक हो गई है . बिहार विधानपरिषद में बीजेपी विधान पार्षद संजय मयूख ने इस मसले को उठाया और कहा कि बिहार सरकार के स्पेशल ब्रांच की एक चिट्ठी के हवाले से ऐसी खबरें मीडिया में चल रही है कि आरएसएस और उसकी 19 सहयोगी संगठनों की कुंड़ली को खंगालने का आदेश दिया गया है. सरकार को इसका जबाब देना चाहिए

वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा है कि आरएसएस का मुद्दा सदन में सजंय मयूख ने उठाया था लेकिन सरकार की तरफ से कोई जबाब नहीं मिला. बीजेपी इस मामले को उठा रही है. आरएसएस को नीतीश कुमार ने मजबूत किया है तो फिर सवाल क्यों उठा रही है इसकी जांच कराई जानी चाहिए. नीतीश कुमार के पास पावर है और नीतीश कुमार जांच करवा सकते हैं.

उन्होंने कहा कि बीजेपी और जेडीयू में विश्वास की कमी है. नीतीश कुमार पावर में है और अपने पावर का इस्तेमाल कर रहे हैं. वही कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेम चन्द्र मिश्रा ने आरएसएस के बड़े पदाधिकारियों के कुंडली खंगालने के सरकार के  निर्णय का स्वागत किया और कहा कि आरएसएस की गतिविधियां संदिग्ध है. यह संघ समाज में उन्माद फैलाता है और अलगाववाद कि राजनीति करता है.  

साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी जेडीयू साथ में सरकार चला रही है लेकिन दोनों के बीच में कहीं ना कहीं खटपट है. दोनों एक दूसरे के पैर खींचने में लगे हैं. यह सरकार पूरा कार्यकाल शायद ही पूरा करेगी. बिहार में राजनीतिक अस्थिरता का दौर बनेगा और चुनाव समय से पहले हो सकता है. बिहार में राष्ट्रपति शासन भी जल्द लग जाएगा.