close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: अनुच्छेद 370 के खात्मे को कैश करने में जुटी बीजेपी, एक सितंबर से चलेगा जागरूकता अभियान

बीजेपी अब इसी माहौल को कैश करने में जुट गयी है. पार्टी के राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी सह पूर्व केन्द्रीय गृहराज्य मंत्री हंसराज अहीर ने दावा किया है कि धारा 370 खत्म होने के बाद देश में अलग सी लहर बन गई है. 

 बिहार: अनुच्छेद 370 के खात्मे को कैश करने में जुटी बीजेपी, एक सितंबर से चलेगा जागरूकता अभियान
हंसराज अहीर ने दावा किया है कि धारा 370 खत्म होने के बाद देश में अलग सी लहर बन गई है.

पटना: जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए खत्म होने के बाद से देश का माहौल बदला बदला सा नजर आ रहा है. बीजेपी अब इसी माहौल को कैश करने में जुट गयी है. पार्टी के राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी सह पूर्व केन्द्रीय गृहराज्य मंत्री हंसराज अहीर ने दावा किया है कि धारा 370 खत्म होने के बाद देश में अलग सी लहर बन गई है. लोग बीजेपी से जुडने के लिए टूट पर रहे हैं. यहां तक कि विपक्ष के राजनीतिक दलों के कई नेताओं ने भी देशभक्ति का प्रमाण देते हुए सरकार के फैसला कर समर्थन कर दिया है.

संगठन चुनाव को लेकर सदस्यता अभियान की समीक्षा करने पटना पहुंचे पूर्व केन्द्रीय मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने जी मीडिया से बातचीत में अपने कई अहम विचारों को साझा किया. बीजेपी नेता ने कहा कि पार्टी में लोकतंत्र है और उसी लोकतंत्र के तहत संगठन चुनाव होने हैं. पार्टी उसी की तैयारी में जुटी है. बिहार बीजेपी अच्छा काम कर रही है.

 

बिहार में 72 हजार बूथों पर हमारे 70 लाख मेंबर थे. हमने 20 लाख अतिरिक्त मेंबर बनाने का लक्ष्य तय किया था. लेकिन अभियान चल ही रहा है और हमने बिहार में 27 लाख मेंबरशिप का लक्ष्य हासिल कर लिया है जो करीब तीस लाख तक जाने की उम्मीद है. bjp नेता ने कहा कि 1 सितंबर से धारा 370 को लेकर बड़े पैमाने पर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा.

पीएम मोदी के नेतृत्व और विचार पर लोगों का विश्वास बढा है. यही वजह है कि हर जाति समाज और पंथ के लोग पार्टी से जुड रहे हैं. जातियों का बंधन टूट रहा है. यूपी में लोगों ने देखा कि किस तरह मायावती, अखिलेश और कांग्रेस ने जाति की राजनीति की और चुनाव लडे. उसका परिणाम क्या हुआ. लोगों ने कास्ट को छोड विचारों को स्वीकार किया. जातियां पवित्र होती हैं लेकिन विचार उससे ज्यादा पवित्र होते हैं. 2014, 2016 और 2019 के चुनाव परिणाम इसके सबसे बडे उदाहरण हैं. 

हमारी सरकार ने जो कहा वो किया. सर्जिकल स्ट्राईक का मामला हो या पाकिस्तान को हर तरह से जवाब देने का. बीते पांच सालों में सरकार के बेहतर कामों का ही नतीजा रहा कि 282 से आगे बढकर 303 सीटों पर जीतकर आए.