बीजेपी की जल्दबाजी समझ आती है, लेकिन आयोग चुनाव को लेकर क्यों है हड़बड़ाहट में- कांग्रेस

कांग्रेस नेता ने कहा कि चुनाव आयोग क्यों नहीं हर मतदाता के लिए 1 करोड़ का बीमा करा दे रहा है. आज की तारीख में 50 हज़ार मामले हैं. चुनाव आते आते 10 लाख मामले आ जाएंगे.

बीजेपी की जल्दबाजी समझ आती है, लेकिन आयोग चुनाव को लेकर क्यों है हड़बड़ाहट में- कांग्रेस
बीजेपी की जल्दबाजी समझ आती है, लेकिन आयोग चुनाव को लेकर क्यों है हड़बड़ाहट में- कांग्रेस.

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर आरजेडी के खत पर कांग्रेस ने चुनाव आयोग के रोल पर सवाल खड़े किए हैं. पार्टी प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा कि बीजेपी को तो चुनाव की जल्दबाज़ी है, यह बात समझ में आती है, लेकिन चुनाव आयोग को क्यों शीघ्रता है. 

उन्होंने कहा कि अगर चुनाव इतना ही जरूरी है तो पहले स्नातक और शिक्षक विधान परिषद का चुनाव कराया जाए. पहले इसी से शुरुआत की जाए. क्योंकि इस चुनाव में काफी कम संख्या में वोटर हैं. विधानसभा चुनाव में करोड़ों लोग हिस्सा लेते हैं
क्या इसकी जान की ज़िम्मेदारी चुनाव आयोग लेगा?

कांग्रेस नेता ने कहा कि चुनाव आयोग क्यों नहीं हर मतदाता के लिए 1 करोड़ का बीमा करा दे रहा है. आज की तारीख में 50 हज़ार मामले हैं. चुनाव आते आते 10 लाख मामले आ जाएंगे.

इसके बाद राजेश राठौड़ ने सुशांत सिंह मामले में मुंबई पुलिस के रूख पर कहा कि सीएम को सीबीआई जांच की मांग करनी चाहिए. उन्हें उद्धव ठाकरे से बात करने से किसने रोका है?

नित्यानंद राय देश के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हैं. वो बिहार से ही आते हैं. वो भी इस मामले में पहल कर सकते हैं. केवल जुबानी जमापुंजी से कुछ नहीं होता है.