आइसोलेशन वार्ड को लेकर सियासत शुरू,बन्ना गुप्ता बोले-भ्रम फैलाने की कोशिश कर रही BJP

रांची रेल मंडल के द्वारा भी 60 डिब्बों का आइसोलेशन वार्ड 540 बेड के साथ तैयार किया गया है. सरकार ने इसे सुविधा के साथ लेने की इच्छा जरूर जाहिर की है.

आइसोलेशन वार्ड को लेकर सियासत शुरू,बन्ना गुप्ता बोले-भ्रम फैलाने की कोशिश कर रही BJP
आइसोलेशन वार्ड को लेकर सियासत शुरू,बन्ना गुप्ता बोले-भ्रम फैलाने की कोशिश कर रही BJP.

रांची: देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा है रहा है. ऐसे में अधिक से अधिक अस्पतालों में कोविड के मरीजों को भर्ती कराया गया है. लेकिन फिर भी बेड कम पड़ रहे हैं. ऐसे में रेलवे के द्वारा रेल के डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड के तौर पर तैयार किया गया है.

रांची रेल मंडल के द्वारा भी 60 डिब्बों का आइसोलेशन वार्ड 540 बेड के साथ तैयार किया गया है. सरकार ने इसे सुविधा के साथ लेने की इच्छा जरूर जाहिर की है. वहीं, अब इसे लेकर सियासत भी शुरू हो चुकी है. दरअसल, रांची रेल मंडल के द्वारा हटिया यार्ड में तैयार किया गया है.

60 बोगियों का आइसोलेशन वार्ड लगातार बढ़ रहे मरीजों की संख्या को देखते हुए, राज्य सरकार ने भी जरूरत पड़ने पर इसे लेने की इच्छा जताई है. कोरोना संक्रमण के शुरू होने के बाद से ही रेलवे के द्वारा इसकी तैयारी शुरू कर दी गई थी, अब इसे मूर्त रूप दे दिया गया है.

फिलहाल, इस बोगी का इस्तेमाल कब से किया जाएगा इसकी कोई जानकारी रेलवे के द्वारा नहीं दी जा रही है. वहीं, दूसरी तरफ डब्ल्यूएचओ (WHO) और स्वास्थ्य विभाग के  पदाधिकारियों ने इसका जायजा लिया है. मरीजों के इलाज की दृष्टि से क्या कुछ सुधार किए जाएंगे, इस पर भी चर्चा की गई है. पहले की तुलना में फिलहाल कुछ बदलाव किए भी जा चुके हैं.

वहीं, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि, रेलवे के बोगी में सिर्फ सफेद चादर बिछा देने से क्या वह आइसोलेशन वार्ड बन जाएगा. उन्होंने कैसा आइसोलेशन वार्ड बनाकर मुझे सुपुर्द किया है. सिर्फ लोगों में भ्रम फैलाने के लिए बीजेपी के नेता लगे हुए हैं. कोच को लाकर चादर और तकिया लगाने के बाद उसे आइसोलेशन वार्ड बनाकर संचालन करने की बात कही जा रही है.

मंत्री ने कहा कि, आइसोलेशन वार्ड के लिए बोगी में डॉक्टर, स्टाफ को रखने की जरूरत है और उन्हें सुविधा भी देने की जरूरत है. यह सिर्फ आंखों में धूल झोंकने का काम किया जा रहा है. बीजेपी के नेता अंदर से भयभीत है और अनर्गल बयानबाजी कर लोगों में भ्रम पैदा करने का काम कर रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री के बयान पर बीजेपी कार्यकर्ता कोरोना काल में सड़क पर उतर कर अपने घर का अनाज का अंश जरूरतमन्दों के बीच बांटने का काम किया. उन्होंने कहा कि, अगर इस पर हमलोग राजनीति करते तो हम लोग भी घर में रहते और आज यहां की स्थिति क्या होती, वो सीएम को पता है.

बीजेपी नेता सुबोध कुमार गुड्डू ने कहा कि, बन्ना गुप्ता तो सिर्फ बयानबाजी करते हैं. इनको देखिए कोरोना में जब जनता संकट से जूझ रही थी, जांच नही हो पा रहा था, दवा नहीं मिल पा रहा था, उस दौरान एक सूत्री मांग में घूम रहे थे कि, कैसे रिम्स (RIMS) निदेशक को बदला जाए और उन्होंने बदलवा भी लिया.

उन्होंने कहा कि, टाटा में अगर कोरोना देखिए तो जिस विधानसभा में स्वास्थ्य मंत्री रहते हैं वहां की स्थिति कितनी भयावह है. जो आदमी अपना विधानसभा और जिला नहीं संभाल सकता है, वो झारखंड को क्या संभालेगा ,वो सरासर झूठ बोलते हैं और झूठ बोलने में माहिर हैं.