close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गिरिराज सिंह का विवादित बयान, कहा- 'देश पर बुरी निगाह वालों कि आंखें निकाल ली जाएंगी'

 गिरिराज सिंह ने कहा है कि जो भी देश पर बुरी निगाह डालेगा उसकी आंखें निकाल ली जाएगी. चाहे वह आतंकी हो या अलगाववादी.

गिरिराज सिंह का विवादित बयान, कहा- 'देश पर बुरी निगाह वालों कि आंखें निकाल ली जाएंगी'
गिरिराज सिंह ने आतंकियों और अलगाववादियों पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

पटनाः बीजेपी वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अपने विवादित बयानों के लिए हमेशा सुर्खियों में रहते हैं. वहीं, पुलवामा आतंकी हमले के बाद से वह लगातार पाकिस्तान के खिलाफ और उससे हमदर्दी दिखाने वालों पर गरज रहे हैं. उन्होंने एक बार फिर बड़ा बयान दिया है. गिरिराज सिंह ने कहा है कि जो भी देश पर बुरी निगाह डालेगा उसकी आंखें निकाल ली जाएगी. 

गिरिराज सिंह ने पाकिस्तान से हमदर्दी दिखाने वालों को कहा है कि अगर वह देश के खिलाफ किसी तरह का काम करेंगे तो उनकी आंखे निकाल ली जाएगी. साथ ही उन्होंने कहा कि चाहे वो आतंकवादी हो या अलगाववादी. देश की अखंडता के साथ खिलवाड़ का अधिकार किसी को नहीं.

गिरिराज सिंह जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर पटना कहा कि पुलवामा हमले के बाद महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्लाह के जिस तरह के बयान आ रहे हैं वो पाकिस्तानी शैली के हैं. ये नेता देश को तोड़नेवाले बयान दे रहे हैं. जिसे किसी भी सूरत में बर्दास्त नही किया जाएगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आतंकवादी हो, अलगाववादी हो या दुश्मन देश, जो भी भारत पर बुरी नज़र डालेगा उसकी आंखें निकाल ली जाएंगी.

 

गिरिराज सिंह यही नही रुके. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आज देश नेहरू का किया भुगत रहा है. धारा 370 इसी का परिणाम है. धारा 370 पर कांग्रेस को अपने विचार साफ करने चाहिए आखिर कांग्रेस धारा 370 को लेकर क्या सोचती है.

कश्मीर के मुद्दे पर जेडीयू का भी रुख कुछ ऐसा ही नज़र आता है. जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा है कि कश्मीर में फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती जैसी नेता देश तोड़ने वाला बयान दे रही हैं. पाकिस्तान की भासा बोलने वाले इन नेताओं पर करवाई होनी चाहिए. जेडीयू प्रवक्ता ने कहा कि कश्मीर के केवल 5 जिलों में अलगाववादी नीतियों पर काम हो जबकि बांकी के जिले भारत की नीतियों के साथ हैं. कुछ स्थानीय नेता माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं जो पाकिस्तान की भासा बोल रहे हैं.