close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मधु कोड़ा की भतीजी निशा कोड़ा के अपहरण मामले का खुलासा, बीजेपी नेता निकला मास्टरमाइंड

पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा की भतीजी निशा कोड़ा के अपहरण मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. 

मधु कोड़ा की भतीजी निशा कोड़ा के अपहरण मामले का खुलासा, बीजेपी नेता निकला मास्टरमाइंड
बीजेपी नेता ताजदार आलम ने निशा कोड़ा का अपहरण करवाया था.

पीयूष मिश्रा/जमशेदपुरः झारखण्ड के सबसे बड़े हाई प्रोफाइल मामले का आज खुलासा जमशेदपुर पुलिस ने किया है. सोनारी निवासी और पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा की भतीजी निशा कोड़ा के अपहरण मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. 

इस मामले में जब आजादनगर निवासी सह भाजपा नेता ताजदार आलम से पुलिस ने पूछताछ की तो वो टूट गया. जिसके बाद उसने बताया कि निशा कोड़ा से उसकी पुरानी दोस्ती थी. निशा के पास पैसे ज्यादा होने के कारण ताजदार की नियत बदली और इसने आजाद नगर के रहने वाले अपराध चौड़ा राजू उर्फ मोहम्मद अब्दुल्ला से संपर्क कर निशा कोड़ा का अपहरण कर उससे जेवर एवं रुपया वसूलने का प्लान बनाया. 

पूरे मामले का खुलासा करते हुए सिटी एसपी सुभाष कुमार जाट ने बताया कि इस घटना को अंजाम देने के लिए पिछले कुछ दिनों तक लगातार ताजदार चौड़ा राजू गैंग के सदस्यों के साथ बैठक कर इसके लिए रणनीति बनाई, और मौका मिलते ही उसने 25 जुलाई को उसका अपहरण कर लिया.

उन्होंने बताया कि 25 जुलाई को रात निशा कोड़ा को कपाली में एक जमीन दिलाने की बात कही, इसके लिए निशा कोड़ा बिष्टुपुर के एक बैंक से पांच लाख नकद लेकर ताजदार आलम के साथ अपनी कार से कपाली के लिए रवाना हुई. इस बीच रास्ते में ताजदार ने दो नकाबपोश लोगों को गाड़ी में बिठा लिया. उन्होंने थोड़ी देर में महिला को बंधक बना लिया और उससे रुपये लूट लिये.

इस मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. जिसमें भाजपा नेता सह आजादनगर निवासी ताजदार आलम, सरायकेला जिला के सिंदूरपुर निवासी कादिर मोमिन, और रांची के सिल्ली के कयामुद्दीन अंसारी शामिल हैं.

सिटी एसपी ने बताया कि घटना को अंजाम देने के समय निशा कोड़ा के पास छह लाख के आभूषण और लगभग एक लाख नगद उनके पास मौजूद थे. फिलहाल इस घटना को अंजाम देने वाले गैंग के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी चल रही है.