close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में बढ़ते अपराध पर बोले बीजेपी विधायक, 'क्राइम कोई खत्म नहीं कर सकता'

बिहार में अपराध का ग्राफ कम होता नहीं दिख रहा है. बीते कुछ दिनों से ताबड़तोड़ मॉब लिंचिंग की घटनाओं ने सबको चौंका कर रख दिया. 

बिहार में बढ़ते अपराध पर बोले बीजेपी विधायक, 'क्राइम कोई खत्म नहीं कर सकता'
बीजेपी एमएलए ने कहा अपराध खत्म कोई नहीं कर सकता है.

पटनाः बिहार में लडकियों के साथ होनेवाले वारदत बढ़ गई है. बीते एक दिन में तीन जिलों से जघन्य घटनाओं की खबरें आयी है. जहां लडकियों के साथ क्रूरता की सारी हदें पार कर दी गई. वहीं रुलिंग पार्टी बीजेपी के एक विधायक ने मामले पर ये कहकर सबको चौंका दिया है कि, 'क्राइम को कम किया जा सकता है खत्म नहीं.' जबकि बिहार में साल के शुरुआती पांच महीनों का आकलन करें अबतक 605 रेप की घटनाएं हो चुकी हैं. पटना में सबसे ज्यादा रेप के 41 मामले दर्ज किये गये हैं.

बिहार में अपराध का ग्राफ कम होता नहीं दिख रहा है. बीते कुछ दिनों से ताबड़तोड़ मॉब लिंचिंग की घटनाओं ने सबको चौंका कर रख दिया. बीते एक दिन में नाबालिग लडकियों के साथ गैंग रेप की हुई कई घटनाओं ने सबको सोचने पर मजबूर कर दिया है कि आखिर सुशासन कहां है.

पहली घटना छपरा के नगर थाना के रौजा की है. जहां तीन दरिंदों ने मिलकर एक नाबालिग लडकी के साथ न केवल बलात्कार किया बल्कि उसे जान से मारने की कोशिश भी की. पीडिता गंभीर हालत में पीएमसीएच में जिंदगी की जंग लड रही है. पुलिस ने दो अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है तीसरा फरार है.

दूसरी घटना नालंदा के बेलौर गांव की है. जहां एक 16 साल की किशोरी का शव बरामद किया गया है. शव की पहचान न हो सके इसलिए दरिंदों ने सर को ईंट पत्थर से कुचल दिया है. शव को देखने के बाद ऐसा प्रतीत हो रहा है कि बलात्कार के बाद लडकी की हत्या कर दी गयी है.

तीसरी घटना गया के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र की है. जहां एक लडकी को 4 दिनों तक होटल में बंधक बनाकर रेप किया जाता रहा और पुलिस को भनक तक नहीं लग सकी.

तीनों घटनाओं पर विपक्ष ने सरकार पर हमला बोल दिया है. कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड ने कहा है कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी के राज में बिहार की बेटियां सुरक्षित नहीं हैं. बिहार में हर रोज निर्भया जैसे कांड हो रहे हैं और सरकार खामोश खडी है. वहीं आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा है कि बिहार में क्या ऐसे ही सुशासन का ढोल पीटा जा रहा है. कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है और आम लोग यहां खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे  हैं.

विपक्षी हमले को लेकर रुलिंग पार्टी के नेता भी सरकार के बचाव में आ खडे हुए हैं. जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा है कि घटना शर्मनाक है और हमलोगों के लिए चुनौतीपूर्ण है. ऐसे मामलों में किसी भी दोषी को बख्सा नहीं जाएगा और सरकार इसतरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए संकल्पित है. वहीं सरकार के बचाव में सामने आये बीजेपी विधायक अरुण सिन्हा ने विवादित बयान दे डाला है. अरुण सिन्हा ने कहा है कि क्राइम को कम किया जा सकता है खत्म नहीं. अरुण सिन्हा ने आम लोगों से मामले पर डरने की बजाय खुलकर घटनाओं की रोक के लिए आगे आने की अपील की है.