close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP सांसद बोले- बिहार में तुरंत लागू हो NRC, कांग्रेस बोली- मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने गोपाल नारायण सिंह पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि वास्तिवक मुद्दों से ध्यन भटकाने के लिए बीजेपी नेता इस तरह के बयान दे रहे हैं.

BJP सांसद बोले- बिहार में तुरंत लागू हो NRC, कांग्रेस बोली- मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश
गोपाल नाराययण सिंह ने अपनी ही सरकार को घेरा. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के सीमांचल में हिंदुओं की स्थिति काफी दयनीय है. हिंदू अल्पसंख्यक हो चुके हैं. बिहार (Bihar) में तुरंत लागू हो एनआरसी (NRC). बिहार सरकार की वोट बैंक की राजनीति के कारण हिंदू क्रिमिनेशन करने की भी आजादी नहीं रखते. राज्य सरकार का तंत्र इस मामले में निष्क्रिय है. हिंदुओं की हालात दिनों दिन बिगड़ती जा रही है. यह कहना है भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राज्यसभा सांसद गोपाल नारायण सिंह का. बीजेपी नेता के इस बयान के बाद सियासत शुरू हो गई है.

कांग्रेस (Congress) के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने गोपाल नारायण सिंह पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि वास्तिवक मुद्दों से ध्यन भटकाने के लिए बीजेपी नेता इस तरह के बयान दे रहे हैं.

लाइव टीवी देखें-:

गोपाल नारायण सिंह (Gopal Narayan Singh) ने कहा का बिहार में एनआरसी लागू होने से स्थिति साफ होगी. साथ ही उन्होंने बिहार में अपने सहयोगी जेडीयू की मदद से चल रही सरकार को ही कठघरे में खड़ा कर दिया. उन्होंने कहा कि वोट बैंक की राजनीति के खातिर कुछ क्षेत्रीय पार्टियां एनआरसी का विरोध करती है. बीजेपी सांसद का निशाना जेडीयू पर था.

गोपाल नरायण सिंह पर पटलवार करते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि गोपाल नारायण सिंह सरीखे नेता देश के ज्वलंत मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के अनाप-शनाप बयान देते रहते हैं. मदन मोहन झा ने यह भी पूछा कि बीजेपी और जेडीयू को यह बताना चाहिए कि वह गोपाल नारायण सिंह के बयान से कितना इत्तेफाक रखती है.

वहीं, जन अधिकार पार्टी (जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने एनआरसी पर गोपाल नारायण सिंह के बयान को औचित्यहीन करार दिया. दरअसल, पप्पू यादव सीमांचल से ही आते हैं. पप्पू यादव के मुताबिक, गोपाल नारायण सिंह जैसे नेता सांसद इसीलिए बनते हैं कि वह बीजेपी को उलूल-जुलूल बयान देकर सुर्खियों में रख सके.