close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रांची: कांग्रेस ने की जन आक्रोश रैली, आरपीएन बोले- 25 सीटों पर सिमटेगी BJP

झारखंड कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव परिणाम के बाद झारखंड में भी बीजेपी को 65 नहीं 25 पर समेटने का आह्वान किया. 

रांची: कांग्रेस ने की जन आक्रोश रैली, आरपीएन बोले- 25 सीटों पर सिमटेगी BJP
आरपीएन सिंह ने बीजेपी को 25 पर समेटने का आह्वान किया. (तस्वीर साभार-@SinghRPN)

रांची: झारखंड में विधानसभा चुनाव जल्द होने के आसार है. चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है. इसी कड़ी में कांग्रेस ने अपनी शक्ति  दिखाने के लिए प्रमंडल स्तरीय जन आक्रोश रैली (Jan Aakrosh rally) का आयोजन किया. 

इस रैली का आयोजन विधानसभा मैदान में किया गया. जिसमें कांग्रेस के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह समेत कई बड़े नेता शामिल हुए.  

कांग्रेस के नेताओं ने इस रैली के जरिए केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने राज्य सरकार की खामियों को गिनाते हुए जनता से कई वादे किए. साथ ही सत्ता हासिल होने के 6 महीने के भीतर वादे पूरे करने का आश्वासन भी दिया. कांग्रेस ने इस रैली के जरिए शक्ति प्रदर्शन भी किया.

कांग्रेसी नेताओं ने कार्यकर्ताओं से कहा कि देश में बदलाव का माहौल हैं. इसी माहौल का फायदा राज्य के चुनाव में भी हम सभी को उठाना चाहिए.  

उन्होंने कहा कि राज्य की जनता भी बदलाव चाहती है. लोगों में बदलाव का आक्रोश देखने को मिल रहा है. राज्य सरकार ने जो वादे किए थे वो पूरा नहीं कर पाई है. इसका खामियाजा इस सरकार को आगामी चुनाव में भुगतना पड़ेगा.
 
वहीं,झारखंड कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव परिणाम के बाद झारखंड में भी बीजेपी को 65 नहीं 25 पर समेटने का आह्वान किया.  

वहीं, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ओर अन्य नेताओं ने कहा कि बीजेपी स्थानीय भाषाओं को खत्म करने की कोशिश कर रही है.

प्रदेश अध्यक्ष ने मंच से घोषणा करते हुए कहा कि अगर हमारी सरकार आती है तो सबसे पहले किसानों की कर्ज माफी की जाएगी.

उरांव ने कहा कि सरकार ने जो जमीन ली या प्राइवेट कम्पनियां ने जो जमीन ली है उसे वापस करेंगे. साथ ही छत्तीसगढ़ के तर्ज पर स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे-बच्चियों को रेगुलर स्टाइपेंड दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि रिक्त सरकारी पदों को 6 महीने के भीतर भरा जाएगा.

Anupama Kumari, News Desk