शनिवार को पैतृक गांव पहुंचेगा बिहार-झारखंड के शहीद जवानों का पार्थिव शरीर

जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए बिहार और झारखंड के लाल का पार्थिव शरीर शनिवार को पैतृक गांव पहुंचेगा.

शनिवार को पैतृक गांव पहुंचेगा बिहार-झारखंड के शहीद जवानों का पार्थिव शरीर
बिहार-झारखंड के शहीद जवानों का पार्थिव शरीर शनिवार को पहुंचेगा.

नई दिल्लीः जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों द्वारा हमले में हुए शहीद जवानों का पार्थिव शरीर दिल्ली लाया जा चुका है. जहां पीएम मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई मंत्रियों ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी. अब दिल्ली से शहीद जवानों का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव भेजा जाएगा. जिसके बाद सम्मान के साथ शहीदों का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

बिहार के दो और झारखंड के एक जवान भी पुलवामा हमले में शहीद हुए हैं. शहीद जवानों के परिवार समेत पूरा गांव उनके पार्थिव शरीर का इंतजार कर रहा है. जिस वक्त से शहीद जवानों के परिवारों को उनके लाल के सहादत की खबर मिली है उस समय से किसी के भी आंसू रूकने का नाम नहीं ले रही है.

शहीदों के पार्थिव शरीर की अंतिम झलक देखने के लिए पूरा गांव बस इंतजार कर रहा है. रो-रो कर परिवारवालों की आंखें पत्थर हो गई है. वहीं, गांव में भी सिसकियां सुनाई दे रही है. आज की रात उनके लिए गुजारना काफी मुश्किल होगा.

बिहार के मसौढ़ी के संजय सिन्हा और भागलपुर के रतन ठाकुर समेत झारखंड स्थित गुमला के विजय सोरेंग का परिवार अपने लाल का इंतजार कर रहा है. बताया जा रहा है कि दिल्ली से शहीद जवानों का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पहुंचाया जाएगा.

शनिवार को जब शहीद जवानों का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचेगा तो चितकार से पूरा गांव गूंज उठेगा. लेकिन आज की रात शायद कयामत की रात होगी.

आपको बता दें कि शुक्रवार रात करीब 9 बजे सभी शहीद जवानों का पार्थिव शरीर जम्मू से दिल्ली लाया गया. जहां शहीद जवानों को पूरे सम्मान के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रद्धांजलि दी. साथ ही कई मंत्री और नेताओं ने भी श्रद्धांजलि दी.