close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नेता जी के आदेश पर बॉडीगार्ड ने व्यापारी पर चला दी गोली, बकाया पैसों की लगा रहा था गुहार

आरोप है कि स्टोन कारोबारी मुकेश साव की दुकान में अपने आप को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का प्रवक्ता बताते हुए राकेश प्रसाद लगभग 14 लाख रुपये की कीमत का नीलम पत्थर खरीदा. 

नेता जी के आदेश पर बॉडीगार्ड ने व्यापारी पर चला दी गोली, बकाया पैसों की लगा रहा था गुहार
नेता जी ने खुद को बीजेपी का पूर्व प्रवक्ता बताया है.

पटना : बिहार की राजधानी पटना के पीरबहोर थाना क्षेत्र में एक नेता के बॉडीगार्ड पर अपने बॉस के कहने पर स्टोन व्यापारी को गोली मारने का आरोप लगा है. साथ ही यह भी कहा है कि बैग में रखे लाखों के स्टोन भी छीन लिए.

आरोप है कि स्टोन कारोबारी मुकेश साव की दुकान में अपने आप को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का प्रवक्ता बताते हुए राकेश प्रसाद लगभग 14 लाख रुपये की कीमत का नीलम पत्थर खरीदा. एक लाख रुपये देकर जांच कराने के नाम अपने साथ पत्थर भी लेते गए. जाते हुए आरोपी ने व्यापारी से कहा कि दो दिनों में पैसे मिल जाएंगे.

आरोप है कि दुकानदार ने जब भी पैसों की मांग की तो नेता जी ने गलत पत्थर देकर बेवकूफ बनाने का आरोप लगाया. साथ ही मामला दर्ज कराकर जेल भिजवाने की धमकी भी दी. बुधवार को व्यापारी को बाजार में नेता जी दिख गए. वह पैर पकड़कर गिरगिराने लगा और पैसों की गुहार लगाने लगा. नेता जी बार-बार उसे फंसा देने की धमकी देते रहे.

स्टोन व्यापारी का कहना है कि बातचीत के दौरान ही राकेश प्रसाद ने अपने बॉडीगार्ड को निर्देश दिया कि बैग छीनकर इसे गोली मार दो. बॉडीगार्ड ने भी मुकेश साव को पैर में गोली मार दी. गोली की आवाज सुनते ही अफरातफरी मच गई. अन्य व्यापारियों ने राकेश प्रसाद को घेर लिया और पुलिस के हवाले कर दिया.

वहीं, पुलिस ने राकेश प्रसाद और उसके बॉडीगार्ड को थाने लाकर पूरे मामले की पड़ताल शुरू कर दी है. मौके पर मौजूद डीएसपी टाउन सुरेश प्रसाद ने बताया कि राकेश कुमार और उनके अंगरक्षक से पूछताछ की जा रही है. घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जा रही है. जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.

वहीं, खुद को बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता बताने वाले राकेश प्रसाद ने अपनी सफाई में कहा कि उनका अपहरण करने के लिए चार की संख्या में लोग आए थे. इसके कारण अंगरक्षक को निर्देश मिलते ही उसने एक युवक के पैर में गोली मार दी. अगर गोली नहीं मारी होती तो आज हमारी हत्या हो जाती. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि मुकेश साव की इतने महंगे स्टोन बेचने की हैसियत नहीं है. वह झूठ बोल रहा है.

वहीं, इस घटना के बाद से पूरे स्टोन वयापारी संघ आक्रोश में है. उनका कहना है कि यह कहां का इंसाफ है कि बकाया पैसे मांगने पर गोली मर दी जाए. व्यापारी संघ पुलिस से न्याय की गुहार लगा रहा है. 

लाइव टीवी देखें-: