close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोपालगंजः पहली बारिश में बह गया प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बना पुलिया, टूटा गांव का संपर्क

प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत सड़क पर बना पुलिया एक भी बरसात झेल नहीं पाया और मानसून की पहली बारिश में ही पूरा पुलिया पानी की तेज धारा में बह गया.

गोपालगंजः पहली बारिश में बह गया प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बना पुलिया, टूटा गांव का संपर्क
गोपालगंज में प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बना पुलिया बह गया.

गोपालगंजः बिहार के गोपालगंज जिले में प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत सड़क पर बना पुलिया एक भी बरसात झेल नहीं पाया और मानसून की पहली बारिश में ही पूरा पुलिया पानी की तेज धारा में बह गया. इस पुलिया के पानी में बहने से बरौली प्रखंड के बेलसंड, माधोपुर सहित करीब एक दर्जन गांवो का जिला मुख्यालय से सम्पर्क टूट गया है. इस पुलिया का निर्माण बरौली प्रखंड के माधोपुर पंचायत में बेलसंड गांव किया गया था.

गोपालगंज के बरौली प्रखंड के करीब एक दर्जन गांवों के सैकड़ों लोग इन दिनों खासे परेशान है. उनकी परेशानी का कारण घटिया सड़क निर्माण है. बताया जाता है बरौली माधोपुर पथ का निर्माण एक साल पूर्व प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना के तहत बनाया गया था. लाखों रूपये की लागत से बनी इस सड़क का पुलिया गुरुवार की रात तेज बारिश में धवस्त हो गया. 

पुलिया के ध्वस्त होते ही तेज पानी की धार में करीब 15 चौड़ी सड़कें बह गयी. जिसकी वजह से इस इलाके में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. खेतों में पानी भर गया है. जबकि इस इलाके के सरेया, बेलसंड, कल्याणपुर, चकमंजन, नौतन सहित करीब एक दर्जन गांवो का सम्पर्क जिला मुख्यालय और बरौली प्रखंड से टूट गया है.

बेलसंड गांव के किसान विजेंद्र तिवारी ने बताया की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत एक साल पूर्व ही इस सडक का निर्माण कराया गया था. यह सड़क इस इलाके का एकमात्र सड़क है. जो जिला मुख्यालय और प्रखंड मुख्यालय को जोड़ती है. इस सड़क पर बना पुल बारिश में बह गया है. ग्रामीणों की सूचना के बाद भी कोई प्रशासनिक अधिकारी आज शुकवार को दिनभर नहीं आए. जिसकी वजह से स्थानीय ग्रामीणों ने बांस और बल्ला लगाकर इस सड़क पर आवागमन संचालित करने की कोशिश कर रहे है.

हालांकि, एडीएम विजय कुमार मंडल ने सफाई देते हुए कहा कि बरौली और माधोपुर के बीच में इस पुलिया का निर्माण कराया गया था. जो पूरा कम्पलीट नहीं हो पाया था. गुरुवार को यह पुलिया भारी पानी के कारण बह गया है. डीएम के द्वारा उन्हें सूचित कर पुलिया का निरिक्षण करने का आदेश दिया गया था.