लावारिश हालत में महिला को मिला नवजात, काफी मशक्कत के बाद चाइल्ड लाइन को सौंपी

बच्चे का प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टर ने उसे पूर्ण रूप से स्वस्थ बताया है.

लावारिश हालत में महिला को मिला नवजात, काफी मशक्कत के बाद चाइल्ड लाइन को सौंपी
चाइल्ड लाइन ने बच्चे को कब्जे में लेकर हॉस्पिटल में भर्ती कराया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बक्सर : बिहार के बक्सर जिले के इटाढ़ी थाना क्षेत्र के खरहना गांव में किसी ने अपने नवजात बच्चे को लावारिस हालात में फेंक दिया. बच्चे को लावारिस हालात पड़ा देख एक स्थानीय महिला ने उसे उठाकर अपने घर लो गई और उसका लालन-पालन करने लगी. इस बीच मामले की जानकारी चाइल्ड लाइन के अधिकारियों को लगी, जिसके बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने महिला से बच्चे को अपने कब्जे में लेकर सदर अस्पताल में उसे भर्ती कराया.

बच्चे का प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टर ने उसे पूर्ण रूप से स्वस्थ बताया है.

बताया जा रहा है कि लावारिश हालत में मिले बच्चे को जिस महिला ने उठाया था वो उसे वापस देना नहीं चाहती थी. उसे पालना चाहती थी. चाइल्ड लाइन के अधिकारियों ने इसे नियम के खिलाफ बताकर काफी मशक्कत के बाद पुलिस के सहयोग से अपने कब्जे में बच्चे को ले लिया.

चाइल्ड लाइन के अधिकारियों के मुताबिक बाल कल्याण समिति की बैठक में तय होगा कि बच्चा कहां रखा जाएगा. अधिकारियों ने बताया कि जो लोग बच्चों के लालन-पालन में समर्थ नहीं हैं उनके लिए भी सरकार की तरफ से व्यवस्था की गई गई है. लिहाजा ऐसे लोगों से अपील है कि बच्चों को यूं लावारिश हालात में न छोड़ें.

इस मामले ने एक बार फिर मानवता को शर्मसार कर दिया है. फिलहाल यह नहीं साफ हो सका है कि बच्चा किसका है और इस हालत में बच्चे को क्यों फेंका. स्थानीय पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है.