close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहारः आर्थिक तंगी से जूझ रहा है कैंसर पीड़ित युवक, प्रशासन से लगाई मदद की गुहार

पिपरिया थाना क्षेत्र के मोहनपुर गांव निवासी नवीन सिंह के 17 वर्षीय पुत्र निशांत कुमार के कैंसर से पीड़ित हो जाने के कारण परिजनों के सामने गंभीर संकट उत्पन्न हो गया है. 

बिहारः आर्थिक तंगी से जूझ रहा है कैंसर पीड़ित युवक, प्रशासन से लगाई मदद की गुहार
कैंसर पीड़ित आर्थिक तंगी से जूझ रहा है. (प्रतीकात्मक फोटो)

लखीसराय: बिहार के लखीसराय में आर्थिक तंगी से एक कैंसर पीड़ित युवक जूझ रहा है. पिपरिया थाना क्षेत्र के मोहनपुर गांव निवासी नवीन सिंह के 17 वर्षीय पुत्र निशांत कुमार के कैंसर से पीड़ित हो जाने के कारण परिजनों के सामने गंभीर संकट उत्पन्न हो गया है. इलाज में काफी धन खर्च हो जाने के कारण परिजनों को खेती की जमीन तक बेचनी पड़ी.

अब इलाज की व्यवस्था के साथ ही रोटी के लाले पड़ने लगे हैं. नाम मात्र की भूमि होने के कारण मेहनत मजदूरी के सहारे नवीन सिंह अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे थे. करीब छह महीने पूर्व निशांत के बीमार हो जाने पर कोलकाता से लेकर पटना तक इलाज कराया, लेकिन बीमारी ठीक नहीं हो पाई, अब वह चल भी नहीं पा रहा है. कैंसर पीड़ित निशांत को इलाज के लिए मदद की दरकार है. 

निशांत का इलाज व शिक्षा की जिम्मेदारी नाना सच्चिदानंद सिंह के भरोसे है. वहीं, शासन से पीड़ित को इलाज के लिए कोई सहायता नहीं मिली. निशांत के नाना सच्चिदानंद सिंह ने बताया कि उनके नाती के इलाज में स्थानीय डॉक्टर ने बड़ी लापरवाही की जिसके कारण ये गंभीर बीमारी हो गई. 

उन्होंने डाक्टर पर इलाज में लापरवाही का भी आरोप लगाया. उन्होंने मीडिया के माध्यम से शासन एवं प्रशासन से मदद की गुहार लगाई.

वहीं, अब डीएम ने मदद का आश्वासन दिया है. जब इस बारे में जिले के डीएम शोभेंद्र कुमार चौधरी से बात की तो उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा असाध्य रोग के लिए डीएम के स्तर से सरकारी सहायता देने का प्रावधान है. डीएम ने कहा कि इसके लिए संबंधित अस्पताल जहां इलाज हो रहा है वहां इलाज पर होने वाले खर्च का ब्योरा देने पर पंद्रह दिन के अंदर पीड़ित को आर्थिक सहायता दे दी जाएगी. हालांकि, देखना यह है कि पीड़ित को कितनी जल्दी इलाज के लिए पैसा मिलते हैं.