नए स्वास्थ्य सचिव के आते ही विभाग में दिखने लगे बदलाव, कोरोना जांच ने पकड़ ली है रफ्तार

दरअसल, तेज तर्रार आईएएस अधिकारी प्रत्यय अमृत के स्वास्थ्य विभाग संभालते ही कोरोना जांच ने रफ्तार पकड़ ली है. जांच रफ्तार पकड़ते हुए 23 हजार के पास पहुंच गई है. 

नए स्वास्थ्य सचिव के आते ही विभाग में दिखने लगे बदलाव, कोरोना जांच ने पकड़ ली है रफ्तार
नए स्वास्थ्य सचिव के आते ही विभाग में दिखने लगे बदलाव, कोरोना जांच ने पकड़ ली है रफ्तार.

पटना: बिहार में पिछले दिनों स्वास्थ्य विभाग में कई अहम बदलाव किए गए जिसके बाद सियासी पारा चढ़ने लगा था. विपक्ष ने सरकार पर आरोप लगाए थे कि नए स्वास्थ्य प्रधान सचिव क्या कर पाएंगे कि व्यवस्थाएं सुधरने लगेंगी. अब बिहार स्वास्थ्य विभाग में काम संभालने के बाद से ही सचिव प्रत्यय अमृता का काम बोलने लगा है. 

दरअसल, तेज तर्रार आईएएस अधिकारी प्रत्यय अमृत के स्वास्थ्य विभाग संभालते ही कोरोना जांच ने रफ्तार पकड़ ली है. जांच रफ्तार पकड़ते हुए 23 हजार के पास पहुंच गई है. 

CM नीतीश कुमार काफी दिनों से 20 हजार सैम्पल जांच का टारगेट तय कर चुके थे, लेकिन कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है. आज फिर 13 लोगों की मौत पिछले 24 घंटों में हुई है.

बता दें कि पिछले 24 घंटे के अंदर बिहार में कोरोना की वजह से 13 लोगों की मौत हो गई है. स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक बिहार में अब तक कोरोना से मरने वालों की तादाद 298 पहुंच गई है. बिहार में कोरोना टेस्ट की रफ्तार पहले से बेहतर हुई है. राज्य में पिछले 24 घंटे के अंदर 22742 लोगों की कोरोना जांच की गई. 

वही पिछले 24 घंटे के अंदर सूबे में कोरोना वायरस से 1977 मरीज ठीक हुए हैं. राज्य में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों का रिकवरी अनुपात 66 फ़ीसदी है. बिहार में कुल 17038 एक्टिव केस मौजूद हैं. जबकि, अब तक 548172 लोगों की कोरोना जांच कराई जा चुकी है. आज कोरोना के कुल 2986 नए मरीज मिले हैं जिसके बाद कुल आंकड़ा 50987 पहुंच गया है.