close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सासाराम पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों को नहीं मिल रहा पेट भर खाना

सासाराम सदर अस्पताल में स्थित 'पोषण पुनर्वास केंद्र' में बच्चों को भरपूर भोजन नहीं देने की शिकायत की गई है.

सासाराम पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों को नहीं मिल रहा पेट भर खाना
'पोषण पुनर्वास केंद्र' में बच्चे और महिलाएं.

अमरजीत कुमार/सासारामः सरकार ने कुपोषित बच्चों को उत्तम स्वास्थ्य देने के लिए जिला मुख्यालय में पोषण पुनर्वास केंद्र की स्थापना तो कर दिया है, लेकिन इस केंद्र में बच्चों और उसकी मां को भरपेट भोजन नहीं मिलने की शिकायत की गई है. ऐसे में कुपोषण दूर करने की सरकार की योजना पर ग्रहण लग गया है.

सासाराम सदर अस्पताल में स्थित 'पोषण पुनर्वास केंद्र' बच्चों के लिए की गई थी, जहां कुपोषित बच्चों चिकित्सकीय देखरेख में रखा जाता है. केंद्र पर जच्चा-बच्चा को पोस्टिक आहार दी जाती है. लेकिन कुपोषित बच्चों की मां का कहना है कि वे लोग अपने बच्चों को किसी तरह तो खिला देते हैं, लेकिन उनका पेट नहीं भर पाता है.

उनका कहना है कि खाना की मात्रा काफी कम होती है. जिससे कभी-कभी भूखे भी सोना पड़ता है. इस केंद्र में फिलहाल 5 कुपोषित बच्चे और उनकी मां भी हैं. बच्चों को मेडिकल सुविधाएं तो मिल रही है, लेकिन शिकायत है कि भरपेट भोजन नहीं मिल रहा है.

सरकार का उद्देश्य है कि गांव के कुपोषित बच्चों को यहां 15 दिन से 1 महीना तक रखकर पोस्टिक भोजन तथा मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराना. लेकिन बच्चों के मां को भरपेट भोजन नहीं मिलने की शिकायत कई सवाल खड़े करते हैं. इनके देखभाल में लगे स्वास्थ्य कर्मी कहती है कि बच्चों को मेडिकल सुविधा में कहीं कोई कमी नहीं है, लेकिन जिस संस्था द्वारा यहां भोजन आपूर्ति की जाती है, उसकी लापरवाही से ऐसा हो रहा है.

वहीं, सिविल सर्जन डॉ जनार्दन शर्मा का कहना है कि उनका पोषण पुनर्वास केंद्र ठीक-ठाक चल रहा है. कुछ ढांचागत कार्यों के कारण थोड़ी परेशानी है. जिसे जल्द दूर कर लिया जाएगा.

सरकार ने जिस उद्देश्य से इस केंद्र की स्थापना की थी स्थानीय स्तर पर लापरवाही के कारण उस लक्ष्य को पूरा नहीं किया जा रहा है. गरीबों की कुपोषित बच्चे तथा उसकी मां को पोषण पुनर्वास केंद्र में भी अगर भर पेट भोजन नहीं मिले तो इस केंद्र में आने का कोई फायदा नहीं.