CID दारोगा की क्रूर हरकत, 12 साल की बच्ची को सरिए से पीटा, गर्म लोहे से दागा जिस्म

हद तब हो गयी जब बीते 3 दिन से उस बच्ची को लोहे के सरिया से पीटा गया. उसके जिस्म को गर्म लोहे से जलाया गया. बच्ची किसी तरह अपनी जान बचाकर सुबह घर से भाग निकली. 

CID दारोगा की क्रूर हरकत, 12 साल की बच्ची को सरिए से पीटा, गर्म लोहे से दागा जिस्म
CID दारोगा की क्रूर हरकत, 12 साल की बच्ची से कराई बाल मजदूरी, 3 दिन तक लोहे के सरिए से पीटा.

Purnea: एक तो बाल मजदूरी ऊपर से काम करने वाली 12 वर्षीय बच्ची के साथ प्रताड़ना. सुनकर ही गुस्सा आ जाए आपको. मगर ये पूरी दास्तान अगर वो बच्ची ही खुद से बयान करे, तो आप दंग रह जाएंगे. मामला इसलिए भी क्रूरता से भरा है क्योंकि जहां ये घटना हुई है वो सीआईडी (CID) के दारोगा का घर है. 

मामला पूर्णिया के सहायक खजांची थाना क्षेत्र के रजनी चौक का है, जहां सीआईडी (CID) में कार्यरत दारोगा के घर दरभंगा की रहने वाली एक 12 वर्षीय बच्ची बीते 2 साल से काम करती थी. 

यह भी पढ़ें:- Purnea में भीषण सड़क हादसे में तीन युवकों की मौत, परिवार में छाया मातम

आये दिन उससे दारोगा बाबू और उसकी पत्नी मार पीट करते थे, लेकिन हद तब हो गयी जब बीते 3 दिन से उस बच्ची को लोहे के सरिया से पीटा गया. उसके जिस्म को गर्म लोहे से जलाया गया. बच्ची किसी तरह अपनी जान बचाकर सुबह घर से भाग निकली. 

इधर, चाइल्ड लाइन को सूचना मिली और बच्ची को अपने कब्जे में ले लिया. बच्ची ने अपनी आपबीती सुनाई तो सब हैरत में रह गए. बच्ची को अपने घरवालो का नम्बर पता नहीं है जिस कारण उसे अभी तक चाइल्ड लाइन की कस्टडी में रखा गया है. महिला थाना पुलिस भी मामले में संज्ञान ले रही है.

यह भी पढ़ें:- कुत्ते के प्रति दिखाई अपनी ऐसी वफाई, मरने के बाद हिंदू रीति-रिवाज से की अंतिम विदाई

अब देखने वाली बात यह है कि CID के दारोगा जो एक तरह से कानून के रखवाले हैं, उन्हीं के घर में इस तरह एक नाबालिग से क्रूर सलूक किया जा रहा है. ऐसे में पुलिस प्रशासन पर विश्वास रखने वाली जनता का क्या होगा. सवाल यह भी है कि अब आगे इस मामले पर क्या कार्रवाई की जाएगी.
इनपुट:- मनोज कुमार