GURUPARVA के बाद राजगीर पहुंचे CM नीतीश- बड़े गुरुद्वारे के निर्माण को लेकर कही बड़़ी बात

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह महाराज का 350 में प्रकाश वर्ष जब पटना का ही में मनाया जा रहा था. उसी दौरान हमने कहा था कि राजगीर में भी एक गुरुद्वारा का निर्माण होगा.

GURUPARVA के बाद राजगीर पहुंचे CM नीतीश- बड़े गुरुद्वारे के निर्माण को लेकर कही बड़़ी बात
GURUPARVA के बाद राजगीर पहुंचे CM नीतीश- बड़े गुरुद्वारे के निर्माण को लेकर कही बड़़ी बात.

दीपक विश्वकर्मा/नालंदा: बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) राजगीर पहुंचे. जहां उन्होंने गुरुद्वारा गुरु नानक देव शीतल कुंड साहिब (Guru Nanak Dev Sheetal kund)  में मत्था टेका. इस मौके पर उन्होंने नवनिर्मित गुरुद्वारे का निरीक्षण किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 4 दिनों से चल रहे लंगर में प्रसाद ग्रहण किया. 

मीडिया से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे उस दिन सबसे ज्यादा खुशी होगी जिस दिन नवनिर्मित गुरुद्वारा पूरी तरह से बनकर तैयार हो जाएगा. मुझे पूरा भरोसा है सिर्फ बिहार के नहीं बल्कि पूरे देश के नहीं बल्कि दूसरे देश के भी लोग इस गुरुद्वारा का दर्शन करने आएंगे और इस स्थल के बारे में जानकारी लोगों को मिलेगी तो सबके प्रति सबके मन में यहां के प्रति सम्मान का भाव पैदा होगा. 

उन्होंने कहा कि राजगीर (Rajgir) में हर धर्म, हर संप्रदाय के लोगों के लिए एक खास जगह के रूप में उभर रहा है. ऐसी मान्यता है कि इस इलाके के आसपास ज्यादातर गर्म कुंड है. इसके बाद गुरु नानक साहब (Guru Nanak Sahab) जब राजगीर आए उन्होंने जब पैर से यहां के पानी को छुआ तो यहां शीतल कुंड का निर्माण हो गया. उन्हीं के भ्रमण के बाद इस इलाके में शीतल कुंड का पानी ठंडा होने लगा. 

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह महाराज का 350 में प्रकाश वर्ष जब पटना का ही में मनाया जा रहा था. उसी दौरान हमने कहा था कि राजगीर में भी एक गुरुद्वारा का निर्माण होगा.

उन्होंने कहा कि गुरु गोविंद सिंह महाराज का जन्मस्थल को देखने के लिए पटना साहिब आएंगे तो उसी तरह से गुरुनानक देव जी महाराज के लिए राजगीर जरूर आएंगे क्योंकि यह मामूली बात नहीं है. 7 कुंड का पानी गरम और एक जगह जहां पर गुरु नानक देव जी महाराज आए वहां के पानी को ठंडा कर दिया.