close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना बारिश: जलजमाव को लेकर नीतीश कुमार की हाईलेवल मीटिंग आज, 22 कर्मियों का रुका वेतन

बाढ़ के बाद बिगड़ी स्थिति को लेकर सियासत भी खूब हो रही है. विपक्षी दल लगातार नीतीश सरकार पर निशाना साध रहे हैं.

पटना बारिश: जलजमाव को लेकर नीतीश कुमार की हाईलेवल मीटिंग आज, 22 कर्मियों का रुका वेतन
पटना बारिश पर नीतीश कुमार की हाईलेवल मीटिंग आज. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज बारिश (Bihar Rain) के बाद पटना में कई इलाकों में उत्पन्न हुई जलजमाव (Water Logging) की स्थिति पर हाई लेवल मीटिंग करेंगे. इस दौरान वर्तनाम स्थिति पर समीक्षा करने के साथ-साथ आगे की कार्ययोजना पर चर्चा होगी. उम्मीद की जा रही है कि इस बैठक में जिम्मेदारी भी तय की जाएगी. ज्ञात हो कि पटना के कई इलाकों में आज भी जलजमाव की स्थिति बनी हुई है. लोगों को परेशानी हो रही है.

शाम चार बजे मीटिंग बुलाई गई है. इसमें पटना के डीएम, कमिश्नर, नगर निगम आयुक्त समेत सम्बंधित सभी विभाग के अधिकारी मौजूद रहेंगे. बैठक में जलजमाव और निकासी में देरी पर विस्तार से चर्चा होगी.

बाढ़ के बाद बिगड़ी स्थिति को लेकर सियासत भी खूब हो रही है. विपक्षी दल लगातार नीतीश सरकार पर निशाना साध रहे हैं. बिहार कांग्रेस (Bihar Congress) के अध्यक्ष मदन मोहन झा (Madan Mohan Jha) ने नुकसान के अनुसार पीड़ितों को मुआवजा देने की मांग की है.

वहीं, ड्रेनेज सिस्टम खराब होने के कारण पटनावासियों ने सरकार को खरी-खोटी ही नहीं सुनाई बल्कि सड़ जाम कर आगजनी भी की. संप हाउस के कर्मियों को दोषी मानते हुए जिला प्रसाशन ने लापरवाही के आरोप में 22 संपकर्मियों का अगले आदेश तक वेतन रोक दिया है. पटना के कई इलाके 15 दिनों से जलजमाव के दंश झेल रहे हैं. पटना के सभी 22 ड्रेनेज सिस्टम खराब हैं. कोई इनकी चिंता तक नहीं कर रहा है.

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काफी बेहतर तरीके से हालात को संभाला है. उन्होंने उम्मीद जताई कि कल सीएम की होने वाली समीक्षा बैठक में शहरी इलाकों की बेहतरी को लेकर कुछ बड़ा फैसला हो सकता है.

निखिल आनंद ने कहा कि भविष्य में इस तरह की घटना फिर न हो इसके लिए भी बैठक में रणनीति बन सकती है साथ ही जो भी पदाधिकारी दोषी होंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी.