close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुंगेर: जेडीयू नेता मो.सलाम के घर पहुंचे सीएम नीतीश कुमार, परिवार से की मुलाकात

राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष रहे दिवंगत जेडीयू नेता मो. सलाम का विगत 19 जून को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में निधन हो गया था. वे किडनी की बीमारी से ग्रसित थे और विगत 13 मई को उनके किडनी का ट्रांसप्लांट सर्जरी किया गया था. लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका.

मुंगेर: जेडीयू नेता मो.सलाम के घर पहुंचे सीएम नीतीश कुमार, परिवार से की मुलाकात
मो. सलाम राज्य अल्पसंख्यक आयोग के भी अध्यक्ष रहे थे और जेडीयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के भी अध्यक्ष थे.

मुंगेर: राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष रहे दिवंगत जेडीयू नेता मो. सलाम को श्रद्धांजलि देने आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुंगेर पहुंचे. नीतीश कुमार मो. सलाम के घर पूरबसराय दिलवारपुर मोहल्ले पहुंचे. वहीं, सीएम के आगमन को लेकर जिला प्रसाशन द्वारा शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई. .

राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष रहे दिवंगत जेडीयू नेता मो. सलाम का विगत 19 जून को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में निधन हो गया था. वे किडनी की बीमारी से ग्रसित थे और विगत 13 मई को उनके किडनी का ट्रांसप्लांट सर्जरी किया गया था. लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका.

मो. सलाम राज्य अल्पसंख्यक आयोग के भी अध्यक्ष रहे थे तथा जेडीयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के भी अध्यक्ष थे. उनके निधन के बाद रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुंगेर पहुंचे तथा उनके परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी. नीतीश कुमार मो.सलाम की पत्नी और 15 साल के बेटे आतिफ सलाम से मिल कर उन्हें सांत्वना दी. 

मुख्यमंत्री दोपहर 1:05 बजे राजगीर से हेलिकाप्टर से सफियाबाद स्थित हवाई अड्‌डे पर पहुंचे. जहां प्रभारी प्रमंडलीय आयुक्त वंदना किनी, भागलपुर के जोनल आईजी, डीएम राजेश मीणा तथा प्रभारी एसपी राकेश कुमार ने उनकी अगुआई की. इसके बाद वे लगभग 1.15 बजे दिलावरपुर स्थित मो. सलाम के घर पहुंचे. उनके साथ ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार भी थे. 

जबकि जेडीयू नेता सह एमएलसी अशोक चौधरी तथा तनवीर अख्तर, तारापुर विधायक मेवालाल चौधरी पूर्व से ही मो. सलाम के घर पर मौजूद थे. जैसे ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मो. सलाम के अवास दिलावरपुर पहुंचे. जेडीयू के कई नेता जिलाध्यक्ष के साथ मुख्यमंत्री से मिलने का प्रयास करने लगे. लेकिन वहां मौजूद पुलिस पदाधिकारियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया. लेकिन कुछ देर बार पुलिस पदाधिकारियों ने लगभग जेडीयू के 12 नेताओं को अंदर जाने दिया.