close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रांची: सीएम रघुवर दास ने की एनआरसी की मांग, कांग्रेस ने किया पलटवार

कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस एनआरसी के पक्षधर है. देश में सबसे पहले एनआरसी लागू करने वाला दल कांग्रेसी है लेकिन झारखंड में होने वाले चुनाव के समय एनआरसी के मुद्दा उठाने पर कांग्रेस ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाया.

रांची: सीएम रघुवर दास ने की एनआरसी की मांग, कांग्रेस ने किया पलटवार
झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झारखंड में भी एनआरसी लागू करने की मांग केंद्र सरकार से की है. (फाइल फोटो)

साहेबगंज: झारखंड (Jharkhand) के मुख्यमंत्री रघुवर दास (Raghubar Das) द्वारा केंद्र सरकार से झारखंड में एनआरसी (NRC) की मांग की लेकिन अब इस पर झारखंड में सियासत गर्म हो गई है. कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस एनआरसी के पक्षधर है. देश में सबसे पहले एनआरसी लागू करने वाला दल कांग्रेसी है लेकिन झारखंड में होने वाले चुनाव के समय एनआरसी के मुद्दा उठाने पर कांग्रेस ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाया.

केंद्र सरकार द्वारा असम एनआरसी लागू किए जाने के समर्थन में झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झारखंड में भी एनआरसी लागू करने की मांग केंद्र सरकार से की है इसके जवाब में कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस हमेशा से एनआरसी के पक्षधर रहा है.

 

कांग्रेस ने ही सबसे पहले देश में एनआरसी लागू कराने की सिफारिश की थी लेकिन वर्तमान में जो सरकार एनआरसी लागू करने की बात कर रही है वह पहले यह बताएं कि झारखंड में जो बंगलादेशी घुस पैठिए पिछले 40 वर्षों से रह रहे हैं जिन्होंने अपना सारा कागजात झारखंड का बना लिया है जमीन जगह खरीद ली है.

सारी सरकारी डॉक्यूमेंट लोगों के पास में है ऐसी परिस्थिति में सरकार किस प्रकार से घुसपैठियों की पहचान करेगी और एनआरसी लागू करेंगे उनके सभी दस्तावेज बनाने में हमारे सरकारी कर्मचारी और पदाधिकारी भी जिम्मेदार हैं.

पदाधिकारियों को पहले पहचानना होगा और उन पर भी कार्रवाई की जानी होगी तभी झारखंड में सही मायने में एनआरसी लागू हो पाएगा वर्तमान में सरकार जो एनआरसी की राग अलाप रही है या विधानसभा चुनाव को देखते हुए केवल चुनावी मुद्दा बना रखा है.