गिरिडीह: कंपनी के सेल्स मैनेजर पर 40 लाख रुपए गबन का आरोप, FIR के बाद शुरू हुई जांच

पुलिस को दिए गए आवेदन में रजगड़िया ने कहा है कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सिरसिया स्थित ब्लॉक के समीप उनकी पीवीसी पाईप तथा फिटिंग का मैन्युफैक्चर किया जाता है और माल तैयार कर हर राज्य में इसकी सप्लाई की जाती है. 

गिरिडीह: कंपनी के सेल्स मैनेजर पर 40 लाख रुपए गबन का आरोप, FIR के बाद शुरू हुई जांच
गिरिडीह: कंपनी के सेल्स मैनेजर पर 40 लाख रुपए गबन का आरोप, FIR के बाद शुरू हुई जांच.

मृणाल सिन्हा/गिरिडीह: झारखंड के गिरिडीह नगर थाना क्षेत्र मयंक रजगड़िया ने मुफस्सिल थाना में एक आवेदन देकर उनके कंपनी सीतारात पॉलीप्लास्ट के ऐरिया सेल्स मैनेजर सयनतन मंडल पर कंपनी एवं व्यापारियों को धोखा देकर 40 लाख रुपये ठगी करने का आरोप लगाया है. 

पुलिस को दिए गए आवेदन में रजगड़िया ने कहा है कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सिरसिया स्थित ब्लॉक के समीप उनकी पीवीसी पाईप तथा फिटिंग का मैन्युफैक्चर किया जाता है और माल तैयार कर हर राज्य में इसकी सप्लाई की जाती है. 

उन्होंने कहा है कि सयनतन मंडल जो कि सैथिया, आरके पल्ली, वीरभूम जिला-पांडरा का रहने वाला है उसे 28 अप्रैल को पश्चिम बंगाल के 6 जिलों आसनसोल, बद्धवान, बीरभूम, बाकुङा तथा मेदिनीपुर के लिए ऐरिया सेल्स मैनेजर के पद नियुक्त किया गया था. सयनतन को कंपनी के सेल एवं पेमेंट कंपनी के खाते में जमा करने तथा कंपनी का प्रचार-प्रसार करने की जिम्मेवारी दी गयी थी. 

सयनतन ने इन जिलों में स्थित व्यापारियों से कंपनी सीतारात पॉलीप्लास्ट प्राईवेट लिमिटेङ के नाम पर लगभग 40 लाख रूपये नगद भुगतान ले लिया. लेकिन उस पैसे को कंपनी के खाते में जमा नहीं किया और 40 लाख रुपये को निजी उपयोग के लिए गबन कर लिया. जब सयनतन मंडल से इस मामले को लेकर बातचीत की गयी तो उसने व्यापारियों से नगद पैसे लेने की बात स्वीकार की और पैसे को वापस लौटाने का आश्वासन दिया, लेकिन अब-तक पैसा वापस नहीं किया. 

उन्होंने कहा कि सयनतन ने कंपनी व व्यापारियों को धोखा देकर 40 लाख रुपये गबन कर लिया. राजगड़िया ने मुफस्सिल थाना पुलिस से आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. इस बाबत एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि सीतारात पॉलीप्लास्ट नामक कंपनी के द्वारा उनके ही कंपनी के ऐरिया सेल्स मैनेजर पर 40 लाख रुपये गबन करने का आरोप लगाया है. प्राथमिकी दर्ज कर मामले की अनुसंधान शुरू कर दी गयी है.