जलजमाव: CM नीतीश, सुशील मोदी के खिलाफ CJM कोर्ट में शिकायत दर्ज, हाईकोर्ट में भी सुनवाई

वकीलों के द्वारा दर्ज पीआईएल पर भी आज पटना हाईकोर्ट में सुनवाई होगी. जस्टिस शिवाजी पांडेय और जस्टिस पार्थ सारथी की खंडपीठ सुनवाई करेगी.

जलजमाव: CM नीतीश, सुशील मोदी के खिलाफ CJM कोर्ट में शिकायत दर्ज, हाईकोर्ट में भी सुनवाई
दिल्ली के सीजेएम कोर्ट में आज सुनवाई. (तस्वीर- ANI)

पटना: बिहार की राजधानी पटना के अधिकांश हिस्सों से पानी निकल चुका है, लेकिन मुद्दा फिलहाल शांत नहीं हुआ है. राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप के साथ-साथ कोर्ट में मामला भी दर्ज हो रहा है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar), उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा, मेयर सीता साहू, पूर्व कमिश्नर आनंद किशोर सहित कई अन्य लोगों के खिलाफ पटना के सीजेएम कोर्ट में शिकायत दर्ज की गई है.

पटना के सीजेएम कोर्ट में जिन लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है, उनमें नगर निगम के चैतन्य प्रसाद और BUIDCO के अमरेन्द्र सिन्हा का नाम भी शामिल है. शिकायत में नौ दिनों के जलजमाव में हत्या और हत्या के प्रयास का आरोप लगाया गया है. हाईकोर्ट (Patna High Court) के वकील रामसंदेश राय ने शिकायत दर्ज कराया है. साथ ही जालसाजी और करोड़ों के गबन का भी आरोप लगाया गया है. इस मामले पर आज यानी शुक्रवार को सुनवाई होगी.

वहीं, वकीलों के द्वारा दर्ज पीआईएल पर भी आज पटना हाईकोर्ट में सुनवाई होगी. जस्टिस शिवाजी पांडेय और जस्टिस पार्थ सारथी की खंडपीठ सुनवाई करेगी. कोर्ट को बताया गया कि पूरे पटना को जलजमाव के दौरान नारकीय स्थिति में झोंक दिया गया था. राज्य सरकार और प्रशासन तंत्र पूरी तरह से विफल रहा, जिसका खमियाजा पटनावासियों भुगतना पड़ा.

हाईकोर्ट ने ड्रेनेज सिस्टम के फेल होने को काफी गंभीरता से लिया है. कोर्ट ने यह भी संकेत दिया है कि इन योजनाओं के लिए दिए गये पैसों के हेराफेरी की जांच के लिए कमेटी गठित की जाएगी.

कोर्ट ने काफी सख्त रुख अपनाते हुए कहा कि इस मामले कि निगरानी की जायेगी और जो भी लोग इस स्थिति के लिए जिम्मेदार होंगे, उन्हें जवाबदेह बनाया जायेगा. एक अन्य पीआईएल ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन की तरफ से भी दायर किया गया है. इसमें वित्त, सड़क निर्माण और शहरी विभाग के मंत्रियों और अधिकारियों की भूमिका की जांच कराने की भी मांग की गई है.