बिहार: जातीय जनगणना पर बीजेपी में दो फाड़, मसले पर है अलग-अलग राय

सच्चिदानंद राय ने कहा कि यह तो छापेमार की तरह काम हो रहा है. हर दिन विपक्षी पार्टी के साथ मिलकर कोई भी फैसला ले लिया जा रहा है. जब सत्ताधारी और विपक्षी मिल जाएंगे तो समाज को बड़ा नुकसान हो जाएगा. 

बिहार: जातीय जनगणना पर बीजेपी में दो फाड़, मसले पर है अलग-अलग राय
बिहार में जातीय जनगणना पर बीजेपी में दो फाड़, नंद किशोर यादव और सच्चिदानंद राय के अलग-अलग बोल. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में यह चुनावी साल है और इस साल में सियासी समीकरण लगातार बदलते ही जा रहे हैं. पहले महागठबंधन के अंदर दो फाड़ की खबरें आती रहती थीं, लेकिन अब तो इस कड़ी में एनडीए या यूं कहें कि बीजेपी भी शामिल होती जा रही है. एनआरसी-एनपीआर प्रस्ताव पर जेडीयू के रूख से परेशान बीजेपी के कुछ नेता अब जातीय जनगणना पर भी गठबंधन के स्टैंड से उखड़े हुए नजर आ रहे हैं. 

एनआरसी-एनपीआर प्रस्ताव सदन से पारित होने के बाद आज जातीय जनगणना को भी पारित करा लिया गया, लेकिन इसे पेश करने वाली पक्ष यानी की बीजेपी में ही अब दो फाड़ दिखने लगा है. बीजेपी नेता नवल किशोर यादव जहां इसका स्वागत करते नजर आ रहे हैं तो वहीं विधानपार्षद सच्चिदानंद राय ने इसकी खिलाफत शुरू कर दी है. सच्चिदानंद राय ने इस फैसले को देश तोड़ने वाला तक बता दिया.

सच्चिदानंद राय ने कहा कि यह तो छापेमार की तरह काम हो रहा है. हर दिन विपक्षी पार्टी के साथ मिलकर कोई भी फैसला ले लिया जा रहा है. जब सत्ताधारी और विपक्षी मिल जाएंगे तो समाज को बड़ा नुकसान हो जाएगा. दरअसल, सच्चिदानंद राय को नीतीश-तेजस्वी की मुलाकात और सांठगांठ की चिंता सता रही है. इसलिए उन्होंने इसके खिलाफ बयान दिया है.

वही इस मसले पर बीजेपी नेता व बिहार सरकार में पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि जातीय जनगणना से डरा कौन है? इससे परेशान होने की जरूरत नहीं है. यह पहले भी हुआ ही है. जिसकी जितनी भागीदारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी, यही तो बात है बस. 

लेकिन सच्चिदानंद राय का रवैया एक बार फिर बागी सा हो गया है. दरअसल, सदन में प्रस्तावित होने के बाद जातीय जनगणना को पक्ष-विपक्ष दोनों के सहयोग से पारित करा लिया गया है. इसको लेकर उनकी चिंता भी जायज है कि बंद कमरे में नीतीश-तेजस्वी की मुलाकात और एनआरसी-एनपीआर प्रस्ताव जिस पर बीजेपी के नेताओं से रायशुमारी तक नहीं ली गई, यह कोई अलग ही संकेत तो नहीं है?