बिहार में बाढ़ पर भी 'राजनीतिक प्रहार', कांग्रेस बोली-एयर ड्रॉपिंग सिर्फ मजाक

मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि, बाढ़ में फंसे लोगों की चीख पुकार सरकार नहीं सुन रही है. हेलीकॉप्टर से सिर्फ पैकेट गिराने से काम नहीं चलेगा. स्पॉट पर जाकर लोगों की मदद करनी होगी. गांव के गांव बह चुके हैं.

बिहार में बाढ़ पर भी 'राजनीतिक प्रहार', कांग्रेस बोली-एयर ड्रॉपिंग सिर्फ मजाक
सत्तापक्ष ने विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप लगाया है.(फाइल फोटो)

पटना: बिहार में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए सरकार द्वारा हेलीकॉप्टर के जरिए राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है. लेकिन अब इस पर सियासत शुरू हो गई है. कांग्रेस ने इसे एक मजाक बताया है तो वहीं, सत्तापक्ष ने विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप लगाया है.

कांग्रेस नेता रविंद्र मिश्रा ने कहा कि, बाढ़ पीड़ितों के लिए एयर ड्रॉपिंग एक मजाक है. बाढ़ पीड़ितों के पास सरकारी मदद नहीं पहुंच रही है और अब बाढ़ में सरकारी तैयारियों की पोल खुल चुकी है. वहीं, आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि, बाढ़ में फंसे लोगों की चीख पुकार सरकार नहीं सुन रही है. हेलीकॉप्टर से सिर्फ पैकेट गिराने से काम नहीं चलेगा. स्पॉट पर जाकर लोगों की मदद करनी होगी. गांव के गांव बह चुके हैं.

इधर, बीजेपी-जेडीयू ने विपक्ष के आरोपों पर पलटवार किया है. बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा है कि, विपक्ष सवाल जरूर पूछे लेकिन वो पत्थर फेंककर राजनीति कर रही है. बाढ़ पीड़ितों के खाते में 6-6 हजार दिए जा रहे हैं. एनडीआरएफ-एसडीआरएफ (NDRF-SDRF) की टीम मुस्तैद हैं.

इसके साथ ही, रेस्क्यू, रिहैबिलिटेशन, कम्युनिटी किचेन की व्यवस्था की गई है. हेलीकॉप्टर से फूड पैकेट के साथ लोगों को सरकार हर मदद कर रही है. केंद्र व राज्य सरकार की एजेंसियां बाढ़ पीड़ितों की मदद में शुरू से लगी हैं. वहीं, जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि, मानक के मुताबिक सरकार राहत पहुंचा रही है. विपक्ष के पास कोई सुझाव हो, तो देना चाहिए. सिर्फ बयानबाजी से काम नहीं चलनेवाला है.