धनबाद: कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थक ने रेलवे अधिकारी को दी धमकी, कहा- कर देंगे छलनी

कोयलांचल धनबाद, जहां की काली मिट्टी अक्सर इंसानी लहू से लाल होती रही है. यहां बात-बात पर लोगों की जान ले लेना मानों बच्चों का कोई खेल हो. कम से कम यहां हुई हत्याओं की फेहरिस्त तो यही कहती है.

धनबाद: कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थक ने रेलवे अधिकारी को दी धमकी, कहा- कर देंगे छलनी
झरिया से कांग्रेस उम्मीदवार हैं पूर्णिमा सिंह. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नितेश, धनबाद: देश की कोयला राजधानी धनबाद, यहां की दो ही चीज मशहूर है, पहला कोयला और दूसरा यहां की दबंगई. आपने यहां का कोकिंग कोल तो देखा होगा, लेकिन यहां की दबंगई आज हम आपको दिखाएंगे. दबंगई देख आपको रोंगटे खड़े हो जाएंगे. आपके हो न हों, अधिकारियों की तो शायद हो ही जाती है.

कोयलांचल धनबाद, जहां की काली मिट्टी अक्सर इंसानी लहू से लाल होती रही है. यहां बात-बात पर लोगों की जान ले लेना मानों बच्चों का कोई खेल हो. कम से कम यहां हुई हत्याओं की फेहरिस्त तो यही कहती है. यहां की बंदूक तो छोड़िए, यहां तो दबंग अपने मुंह से भी गोलियां दाग देते हैं.

इन दिनों धनबाद में एक वीडियो वायरल हो रहा है. यह वीडियो एक दबंग परिवार और रेलवे के अधिकारियों के बीच हुई बहस का है. बहस के दौरान एक शख्स ने जो धमकी दी उसे सुन यहां की दबंगई का अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं.

''नहीं पहचानते हो, रघुकुल को गुड्डू को? जानता नहीं कौन हैं? कहता है रघुकुल-गुड्डू को नहीं जानते. छलनी-छलनी कर देंगे. बड़का ऑफिसर बना है.''

यह अल्फाज रघुकुल यानी कोयलांचल के एक दबंग घराने के एक समर्थक का है, जो उस घराने के युवराज के सामने खड़े होकर रेलवे के अधिकारियों को चीख-चीख कर कह रहा है. 

दरअसल, रेलवे अधिकारी पूरी तैयारी के साथ धनबाद के पाथरडीह पहुंच अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू कर दिए. कांग्रेसी नेता अभिषेक सिंह के समर्थकों ने उन्हें तत्काल इसकी सूचना दी. अभिषेक सिंह की भाभी पूर्णिमा सिंह कांग्रेस की प्रत्याशी हैं. वह झरिया विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रही हैं. अभिषेक सिंह अपने समर्थकों के संग पाथरडीह पहुंच गए. वहां के लोग रेलवे अधिकारी से दो महीने का समय मांग रहे थे.

बात होती रही. इसी बीच अभिषेक के एक समर्थक उग्र होकर रेलवे अधिकारी से पूछ बैठता है कि गुड्डू सिंह को पहचानते हो? अधिकारी ने न में जवाब दे दिया. फिर क्या था वह समर्थक पूरी तरह उखड़ गया और रघुकुल, गुड्डू को नहीं पहचानते हो, छलनी कर देने की धमकी देने लगा. अन्य समर्थकों ने उग्र व्यक्ति को समझा बुझाकर हटाया.

दरअसल, पाथरडीह रेलवे कॉलोनी के सैकड़ों आवास पर बाहरी लोगों का कब्जा है. रेल प्रशासन को सूचना मिली है कि दबंग-रंगदार किस्म के लोग लम्बे समय से रेलवे के आवास पर कब्जा जमाकर उसे किराए पर लगाए हुए हैं. धनबाद रेल प्रशासन ने इसे गम्भीरता से लेते हुए अवैध कब्जाधारियों को घर खाली करने का नोटिस थमाया था, लेकिन रेलवे का आवास खाली नहीं हो रहा था.

वहीं, वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त हेमन्त कुमार ने बताया कि स्थानीय थाना और जीआरपी को सूचित कर रेलवे अधिकारी (स्टेट ऑफिसर) RPF के साथ पाथरडीह में रेलवे आवास खाली कराने गए थे. वहां कुछ लोग राजनीतिक या समाजसेवी सरकारी कार्य में बाधा डाल रहे थे. उन्होंने कहा कि स्टेट ऑफिसर के द्वारा उन लोगों के विरुद्ध कार्रवाई किये जाने की तैयारी की जा रही है. छलनी करने वाली बात की लिखित शिकायत आते ही कार्रवाई होगी और इन तमाम चीजों से जिला प्रशासन को भी अवगत कराया जाएगा.

अब आपको उस दंबग शख्स के आका और उनके घराने से परिचय कराते हैं. दरअसल यह गुड्डू सिंह पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह के छोटे भाई हैं. धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह सहित चार लोगों की हत्या 21 मार्च 2017 की शाम धनबाद के ही सरायढेला में गोली मारकर कर दी गई थी. इस हत्याकांड में सिंह मेंशन के युवराज और बीजेपी से झरिया के विधायक संजीव सिंह को आरोपी बनाया गया.

इसी हत्याकांड में विधायक संजीव सिंह पिछले करीब ढाई साल से जेल में बंद हैं. इस बार बीजेपी ने उनकी पत्नी रागिनी सिंह को झरिया सीट से चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं, कांग्रेस ने नीरज सिंह की पत्नी पूर्णिमा सिंह को झरिया से ही चुनावी अखाड़े में जोर आजमाइश के लिए उतार दिया है, जिससे यह सीट काफी हॉट माना जा रहा है.

बहरहाल अब बात रेल प्रशासन तक पहुंच चुकी है. चुनाव का समय है. प्रत्याशी हाथ जोर वोटर्स का आशीर्वाद मांग रहे हैं तो समर्थक छलनी करने की धमकी अधिकारियों को दे रहे हैं. अब देखने वाली बात यह होगी कि यह दबंगई इस सीट पर किसको कितना लाभ पहुंचती है.