बिहार: कांग्रेस ने निकाला जनवेदना मार्च, कार्यकर्ताओं पर किया गया पानी का बौछार

मार्च के प्रभारी राजेश मिश्रा भी मार्च में शामिल हुए. बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा, अखिलेश सिंह, अनिल शर्मा, प्रेमचंद्र मिश्रा, कौकब कादरी समेत कई कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता भी मौजूद रहे.   

बिहार: कांग्रेस ने निकाला जनवेदना मार्च, कार्यकर्ताओं पर किया गया पानी का बौछार
रैली के बीच में पुलिस-कांग्रेसियों के बीच झड़प हो गई.

पटना: बिहार में कांग्रेस ने शक्ति सिंह गोहिल के नेतृत्व में जनवेदना मार्च शुरू किया. मार्च के प्रभारी राजेश मिश्रा भी मार्च में शामिल हुए. बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा, अखिलेश सिंह, अनिल शर्मा, प्रेमचंद्र मिश्रा, कौकब कादरी समेत कई कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता भी मौजूद रहे. 

देश और प्रदेश में बढ़ती महंगाई, मंदी, बेरोजगारी, बैंकों में व्याप्त भ्रष्टाचार और किसानों की समस्या को लेकर कांग्रेस सड़क पर उतरी. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पार्टी ऑफिस से विधानसभा तक मार्च निकाला. इस दौरान पुलिस ने कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया.

पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया. इसमें बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह शामिल हुए.

कांग्रेस की जनवेदना मार्च पर जेडीयू ने निशाना साधा है. जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि कांग्रेस का संगठन जंग लगे कलपुर्जों पर टीका है. कांग्रेस नीचे से ऊपर तक दिशाविहीन और उत्साहविहीन हो गई है. उधर, डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि कांग्रेस जिंदगीभर वेदना रैली निकालते रहें.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को बिहार में 40 साल काम करने का मौका मिला. अब जिंदगीभर वेदना रैली निकालते रहें. जनता सब चीजों को देख रही हैं. वहीं, रैली के बीच में पुलिस-कांग्रेसियों के बीच झड़प भी हो गई. वाटर केनन का इस्तेमाल किया गया. साथ ही कांग्रेस नेताओं की ओर से पत्थरबाजी में एक लोकल चैनल के पत्रकार को चोट लगी और उसका सर फूट गया. इलाज के लिए पुलिस में हॉस्पिटल भेजा. कई कांग्रेसी कार्यकर्ता नेता हिरासत में लिए गए हैं.