close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस ने किया सुशील मोदी के ट्वीट पर पलटवार, कहा- 'स्पष्टीकरण देने का मतलब कुछ हुआ है'

आपको बता दें कि हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (BJP) एमएलसी और पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय पासवान ने नीतीश कुमार को आगामी विधानसभा चुनाव में सीएम पद छोड़ने की नसीहत दी थी.

कांग्रेस ने किया सुशील मोदी के ट्वीट पर पलटवार, कहा- 'स्पष्टीकरण देने का मतलब कुछ हुआ है'
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कौकब कादरी ने कहा है कि राजनीति में स्पष्टीकरण देने का मामला आता है तो समझिए कि कुछ हुआ है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में जारी सियासी बवंडर पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने तत्काल विराम लगा दिया है. उन्होंने ट्वीट कर साफ कर दिया है कि नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ही बिहार में जारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के कप्तान हैं और आगे भी रहेंगे. 

आपको बता दें कि हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (BJP) एमएलसी और पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय पासवान ने नीतीश कुमार को आगामी विधानसभा चुनाव में सीएम पद छोड़ने की नसीहत दी थी.

वहीं, बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी के ट्वीट पर कांग्रेस ने बयान दिया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कौकब कादरी ने कहा है कि राजनीति में स्पष्टीकरण देने का मामला आता है तो समझिए कि कुछ हुआ है. आग जहां होता धुआं वहीं उठता है. 

कौकब कादरी ने कहा कि एक बार शीश में दरार पड़ता है तो रिपेयर नहीं हो पाता है. सीपी ठाकुर का बयान यूं ही नहीं है. बीजेपी के कई नेताओं ने भी बयान दिया है. जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन लंबा नहीं चलने वाला है.

साथ ही कौकब कादरी ने कहा है कि उपचुनाव में शुरू हुआ गठबंधन विधानसभा चुनाव आते-आते खत्म हो जाएगा. उन्होंने कहा कि जल्द ही यह गठबंधन टूटने वाला है. आपको बता दें कि सुशील मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा था, 'नीतीश कुमार बिहार में एनडीए के कप्तान हैं. वह 2020 के विधानसभा चुनाव में भी कप्तान बने रहेंगे. जब कप्तान लगातार चौका और छक्का लगा रहा हो और विरोधियों को पारी से हरा रहा हो तो बदलाव का सवाल ही नहीं होता है.'

 

इससे पहले जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने पलटवार करते हुए अपने सहयोगी बीजेपी को गठबंधन धर्म पालन करने की नसीहत दी थी. साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि नीतीश कुमार को लालकृष्ण आडवाणी ने प्रोजेक्ट किया था. दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत करते हुए केसी त्यागी ने बीजेपी को नसीहत देते हुए कहा कि जेडीयू ने सदैव गठबंधन धर्म का पालन किया है. बीजेपी के किसी भी शीर्ष नेतृत्व को लेकर कभी बयानबाजी नहीं की. जेडीयू की तरफ से इस तरह का परहेज हमेशा बढ़ता जाता है.