कांग्रेस की अवैध हॉर्डिंग से पटा राजधानी पटना, नगर निगम भी साधे है चुप्पी

कांग्रेस की  रैली को सफल बनाने के लिए जगह-जगह पोस्टर बैनर लगाए गए हैं. लेकिन इनमें से ज्यादा पोस्टर बैनर अवैध हैं.

कांग्रेस की अवैध हॉर्डिंग से पटा राजधानी पटना, नगर निगम भी साधे है चुप्पी
पटना में कांग्रेस की हॉर्डिंग लगाई गई है.

पटनाः 3 फरवरी को राजधानी पटना के गांधी मैदान में होने वाली रैली को सफल बनाने के लिए कांग्रेस ने जी जान झोंक दी है. पार्टी के कार्यकर्ता और नेता दिन रात रैली की व्यवस्था में जुटे हुए हैं. रैली को सफल बनाने के लिए जगह-जगह पोस्टर बैनर लगाए गए हैं. लेकिन इनमें से ज्यादा पोस्टर बैनर अवैध हैं. हालांकि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा कहते हैं कि 3 तारीख के बाद सबकुछ ठीक हो जाएगा.
 
पटना में 3 फरवरी को कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली होनी है. रैली को सफल बनाने के लिए तैयारियां की जा रही हैं. साथ ही साथ कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष को खुश करने के लिए ताबड़तोड़ पोस्टर बैनर भी लगा रहे हैं. लेकिन इस खुसामदी के चक्कर में कांग्रेस ने जमकर नियम का उल्लंघन भी किया है. कांग्रेस ने जमकर अवैध पोस्टर भी पटना में लगा दिए हैं.

पटना का शायद ही कोई ऐसा चौक चौराहा होगा जहां कांग्रेस ने अपना पोस्टर नहीं लगाया हो. नियम के मुताबिक पोस्टर और बैनर लगाने के लिए नगर निगम की इजाजत जरुरी होती है. इसके लिए निगम को टैक्स भी दिया जाता है. लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने इसकी जरा भी परवाह नहीं की. वैध होर्डिंग को छोड़ दिया जाए तो उससे ज्यादा अवैध होर्डिंग और बैनर पटना की सडकों पर लग चुके हैं.

इतना ही नहीं इन अवैध होर्डिंग्स के कारण कई चौक चौराहों की पहचान तक छिप गई है. पूरे मामले का दिलचस्प पहलू यह है कि हाल के दिनों में पटना में अवैध होर्डिंग को लेकर अभियान चलाने वाला पटना नगर निगम भी मामले पर खामोश है. कोई भी अधिकारी इस मामले पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं. 

इधर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा से जब पूरे मामले पर उनकी राय कुछ अलग ही निकली. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गांधी की रैली को लेकर नेता से लेकर कार्यकर्ता तक उत्साहित हैं. उत्साह में कार्यकर्ता और नेता इस तरह की होर्डिंग बैनर लगा दिया करते हैं. अब किसने कहां होर्डिंग लगा दी इसकी जानकारी पीसीसी को नहीं है. पीसीसी की तरफ से कुछ ही होर्डिंग लगाए गए हैं जो वैध हैं. हालांकि होर्डिंग को लेकर विवाद नहीं होना चाहिए. लोगों को धैर्य रखना चाहिए 3 तारीख की रैली के बाद सबकुछ ठीक हो जाएगा.