close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टीचर्स डे के मौके पर पटना में प्रदर्शन करेंगे नियोजित शिक्षक, कार्रवाई की तैयारी में सरकार

सरकार ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को शिक्षक दिवस के मौके पर स्कूलों से गैरमौजूद रहने वाले शिक्षकों की लिस्ट भेजने का निर्देश दिया है. 

टीचर्स डे के मौके पर पटना में प्रदर्शन करेंगे नियोजित शिक्षक, कार्रवाई की तैयारी में सरकार
नियोजित शिक्षक करेंगे विरोध प्रदर्शन. (फाइल फोटो)

पटना : पांच सितंबर यानी शिक्षक दिवस के मौके पर पूरे बिहार के शिक्षकों का जबरदस्त जुटान पटना में होने वाला है. अपने पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुसार बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति ने ऐलान कर रखा है कि नियोजित शिक्षक अपनी मांगों को लेकर पटना में एक विशाल धरना देंगे. वहीं, सरकार ने फरमान जारी किया है कि किसी कीमत पर शिक्षक दिवस को शिक्षकों को स्कूल नहीं छोड़ना है. इस दिन आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शिक्षकों का भाग लेना अनिवार्य है. अनुपस्थित रहने वाले शिक्षकों के खिलाफ नियम के मुताबिक कारवाई होगी.

सरकार ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को शिक्षक दिवस के मौके पर स्कूलों से गैरमौजूद रहने वाले शिक्षकों की लिस्ट भेजने का निर्देश दिया है. शिक्षा विभाग ने सभी प्रखंड के बीआईओ और जिलास्तरीय पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे स्कूलों पर नजर रखें और विद्यालय के प्रधान शिक्षकों से अनुपस्थित रहने वाले शिक्षकों की लिस्ट मंगवाएं.

बीईओ हर हाल में पांच सितबंर की शाम पांच बजे तक गैरहाजिर शिक्षकों की रिपोर्ट डीईओ के पास भेज दें. उसके बाद डीईओ पूरी रिपोर्ट 6 सितबंर को 12 बजे तक निदेशालय को भेजेंगे.

वहीं, बिहार सरकार में शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने नियोजित शिक्षकों के प्रति सहानुभूति जताई है. उन्होंने कहा कि नियोजित शिक्षक बिहार की शिक्षा व्यवस्था के अंग हैं, लेकिन शिक्षक दिवस पर इस तरह का विरोध, धरना या प्रदर्शन जायज नहीं है. शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा है कि शिक्षक दिवस के दिन कार्य दिवस है, लिहाजा नियोजित शिक्षकों को धरना प्रदर्शन की बजाय स्कूल में रहना चाहिए.

लाइव टीवी देखें-: