close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना: तेजस्वी के बंगले पर विवाद बरकरार, सरकार से मिला क्लीन चिट लेकिन सुशील मोदी से नहीं!

आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी के मुताबिक, बेवजह लालू परिवार और तेजस्वी यादव को सुशील मोदी परेशान करने में लगे हैं. लेकिन बेवजह बयान देने से उनकी ही किरकिरी हुई है.

पटना: तेजस्वी के बंगले पर विवाद बरकरार, सरकार से मिला क्लीन चिट लेकिन सुशील मोदी से नहीं!
बीजेपी ने तेजस्वी यादव पर जनता के पैसों का निजी इस्तेमाल का आरोप लगाया है.

पटना: बिहार के पटना के देशरत्न मार्ग का पांच नंबर बंगला विवादों में रहा. दरअसल तेजस्वी यादव जब बिहार सरकार में मंत्री थे तो उन्होंने इस पर काफी खर्च किया. बाद में सुशील मोदी जब यहां शिफ्ट हुए तो उन्होंने बंगला की सजावट पर सरकारी पैसों के इस्तेमाल का आरोप लगाया. हालांकि भवन निर्माण विभाग ने स्पष्ट कर दिया है कि, बंगले की सजावट में नियम कानून का उल्लंघन नहीं हुआ है. भवन निर्माण विभाग से क्लिन चीट मिलने के बाद जहां आरजेडी और कांग्रेस हमलावर है वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी ने तेजस्वी यादव पर जनता के पैसों का निजी इस्तेमाल का आरोप लगाया है.

दरअसल तेजस्वी यादव के पुराने बंगले ने एक बार फिर विवाद का रूप अख्तियार कर लिया जब शुक्रवार को भवन निर्माण विभाग के सचचिव चंचल कुमार ने कहा कि तेजस्वी के सरकारी आवास पर तय नियम के तहत ही पैसे खर्च किए गए हैं और कोई गड़बड़ी नहीं हुई है. लेकिन सुशील मोदी इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं दिखे. उन्होंने फिर कहा है कि, तेजस्वी यादव ने सरकारी पैसे से केवल कमरे में ही नहीं बल्कि शौचालय तक में 44 एसी लगाए 35 महंगे लेदर सोफा,विदेशी ग्रेनाइट,मार्ब, 108 पंखा, 464 महंगी फैंसी एलइडी लाइट,कीमती पर्दे लगाए, और ये सब सरकारी पैसों से हुआ. 

हालांकि भवन निर्माण विभाग से क्लिन चीट  मिलने के बाद आरजेडी और कांग्रेस हमलावर है. कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा है कि क्या सुशील मोदी सरकार से अलग है. जब भवन निर्माण विभाग ने क्लिन चीट दी तो फिर किस हिसाब से सुशील मोदी तेजस्वी यादव से सवाल पूछ रहे हैं. मुजफ्फरपुर में 150 बच्चों की मौत से लोगों का ध्यान हटाने के लिए सुशील मोदी ने बंगला विवाद खड़ा किया है लेकिन उन्हें कोई लाभ मिलने वाला नहीं है. 

आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी के मुताबिक, बेवजह लालू परिवार और तेजस्वी यादव को सुशील मोदी परेशान करने में लगे हैं. लेकिन बेवजह बयान देने से उनकी ही किरकिरी हुई है.
भवन निर्माण विभाग से क्लीन चीट मिलने से जहां तेजस्वी यादव और उनकी पार्टी को सुशील मोदी को घेरने का अवसर मिल गया है वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी को इस पर कुछ सूझ नहीं रहा है.